विद्यार्थी भाव ही बनाएगा योग्य शिक्षक : योगी

2846 चयनित शिक्षकों को दिया नियुक्ति पत्र


लखनऊ

मिशन रोजगार के तहत उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) से चयनित 2846 प्रवक्ता व सहायक अध्यापकों को गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा नियुक्ति पत्र वितरित किया। इस दौरान सीएम योगी ने खुद शिक्षक के अंदाज में नए शिक्षकों को पाठ पढ़ाया। उन्होंने कहा कि शिक्षक को हमेशा सीखते रहना चाहिए। विद्यार्थी भाव में रहेंगे तो योग्य शिक्षक बनेंगे। ईमानदारी से कृतित्व करेंगे तो छात्र की कृतज्ञता पाएंगे और विद्यार्थी का भविष्य अपनी लापरवाही से खराब करेंगे तो कोसे जाएंगे। सीएम ने कहा कि प्रदेश में कई वर्षों के बाद शिक्षकों के चयन की प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से पूरी हुई है। सरकार ने चार साल से शिक्षकों के खाली पदों को भरने का पूरा प्रयास किया है। सीएम योगी ने कहा कि पिछले चार साल में डेढ़ लाख शिक्षकों की भर्ती हुई है। यह भर्तियां बिना किसी सिफारिश और भेदभाव के की गई हैं।

लखनऊ के लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष 2017 के पहले योग्यता होने के बावजूद अभ्यर्थियों को निराशा मिलती थी। तब पारदर्शी व्यवस्था नहीं थी। ईमानदारी का अभाव था। तब सभी प्रकार की चयन प्रक्रिया में बेईमानी और भ्रष्टाचार का घुन लग जाता था, नवजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जाता था और अंततः व्यक्ति को हताश और निराश होकर चुपचाप बैठना पड़ता था, लेकिन वर्ष 2017 के बाद भर्तियों में चयन प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया गया है। इन 53 महीनों के दौरान सरकार ने अब साढ़े चार लाख नौजवानों को सरकारी नौकरी विभिन्न विभागों में दी गई है। ये सभी भर्तियां पिछली सरकारों की बेईमानी और गिद्ध दृष्टि के कारण, न्यायालय के स्थगन आदेश के कारण रुकी हुईं थीं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget