आईपीओ लाने में भारतीय कंपनियों ने चीन को छोड़ा पीछे


नई दिल्ली

चालू वित्त वर्ष में अबतक 20 कंपनियों में आईपीओ के जरिये हैं। पिछले पूरे वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 30 कंपनियों ने आईपीओ से 31,277 करोड़ रुपए जुटाए थे। भारतीय अर्थव्यवस्था पर निवेशकों का भरोसा बढ़ते जा रहा है। ऐसे में कंपनियों में आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने की होड़ लगी हुई है। इस मामले में भारत ने चीन को पछाड़ दिया है। यहां तक कि इंडोनिशया और कोरियाई कंपनियां भी आईपीओ के मामले में चीन से आगे निकल चुकी हैं। विशेषज्ञों का कहना है भारत में पूरे साल आईपीओ बाजार में हलचल रहने की उम्मीद है। विशेषज्ञों का कहना है कि टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनियों पर चीन की सख्ती से विदेशी निवेशकों का भरोसा घटा है। इसकी कीमत चीन की कंपनियों को चुकानी पड़ रही है। दूसरी ओर कारोबार आसान करने की पहल, स्टार्टअप इंडिया और बाजार नियामक से सेबी द्वारा स्टार्टअप के लिए सूचीबद्धता आसान करने से भारतीय बाजार में कंपनियां आईपीओ लाने के लिए प्रोत्साहित हुई हैं। इस साल की शुरुआत से 40 से अधिक भारतीय कंपनियां आईपीओ के जरिये 70 हजार करोड़ रुपए से अधिक की पूंजी जुटा चुकी हैं। भारत और दक्षिण कोरिया की केवल टेक्नोलॉजी कंपनियां इस साल की छमाही में आईपीओ से आठ अरब डॉलर बाजार से जुटा चुकी हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget