अंजू कुमारी पर लटकी बर्खास्‍तगी की तलवार

पटना

राज्‍य सरकार ने पटना की जिला परिषद अध्यक्ष अंजू कुमारी को बर्खास्त करने को लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। पंचायती राज विभाग ने जिला परिषद अध्यक्ष पर पद के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। 16 अगस्त तक लिखित जवाब नहीं मिलने पर विभाग आगे की कार्रवाई तेज करेगा। पटना जिला परिषद अध्यक्ष अंजू कुमारी के खिलाफ कार्रवाई चलाने पर पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने सहमति दे दी है। अंजू पर आरोप है कि उन्होंने 15वें वित्त आयोग मद से प्राप्त आवंटन के खर्च के लिए विभाग के निर्देश के बाद भी बैठक नहीं बुलाई। जिला पंचायत संसाधन केंद्र भवन के निर्माण से संबंधित संचिका, जिला परिषद की बैठक की उपस्थिति पंजी, जिला परिषद की योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए तकनीकी सहायक की प्रतिनियुक्ति से संबंधित संचिका, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना फेज-3 के डीआरपी से संबंधित संचिका और अन्य संचिकाएं जिला परिषद कार्यालय में वापस नहीं की है। इसके कारण मनरेगा वार्षिक कार्य योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना फेज-3, 15वें वित्त आयोग मद से संबंधित वित्तीय वर्ष 2020-21 की योजना के चयन और वर्ष 2021-22 की वाॢषक कार्ययोजना की स्वीकृति जैसे महत्वपूर्ण कार्य लंबित हैं। विभाग ने जिला परिषद अध्यक्ष के इस कार्य और आचरण को प्रथम दृष्टया मनमाने ढंग से कार्य करना और अध्यक्ष के रूप में अपने कर्तव्यों की उपेक्षा करना साथ ही निहित शक्तियों का दुरुपयोग करना माना है। इसके कारण जिला परिषद पटना के महत्वपूर्ण कार्य लंबित है। सरकार ने पूरे प्रकरण को गंभीरता से लिया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget