पूर्व मंत्री संजय राठौड़ ने विपक्ष पर लगाया आरोप

हमारे राजनीतिक भविष्य को समाप्त करने की कोशिश


मुंबई 

पूजा चव्हाण आत्महत्या मामले में वन मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले शिवसेना नेता संजय राठौड़ की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। संजय राठौड़ के खिलाफ एक महिला ने यवतमाल पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें महिला ने राठौड़ पर शारीरिक शोषण का गंभीर आरोप लगाया है और कहा कि राठौड़ के मंत्री रहते हुए हमने इसकी शिकायत नहीं की। अब जब वे मंत्री पद पर नहीं हैं, इसलिए शिकायत कर रही हूं। महिला की शिकायत के बाद भाजपा नेता चित्रा वाघ ने संजय राठौड़ पर लगे आरोप को लेकर ट्वीट किया है। महिला द्वारा लगाए गए गंभीर आरोप का शिवसेना नेता राठौड़ ने जवाब दिया है। शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में संजय राठौड़ ने  विपक्ष पर गंभीर आरोप लगाया, जिसमें उन्होंने कहा कि विपक्ष हमारी राजनीतिक भविष्य समाप्त करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि एक संस्था द्वारा संचालित आश्रम विद्यालय के तीन कर्मचारियों को लगातार अनुपस्थित रहने पर निलंबित कर दिया गया। निलंबित किए गए कर्मचारियों ने शिकायत की। मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन है। फिर बच्चों के भविष्य को देखते हुए, संगठन ने सरकार से अनुमति मांगी और दो शिक्षकों, एक रसोइयां को काम पर रखा। इस रिक्त पद  को भरने के बाद उन्हें अस्थायी नियुक्ति मिली। इस बार एक शिक्षक का मामला सामने आया है। चूंकि यह एक अस्थायी नियुक्ति का था।  शिक्षक ने 2017 में अपने मर्जी से  इस्तीफा दे दिया। इसी बीच शिक्षक और परिजन फिर आए और दोबारा उसे नौकरी पर लेने  की गुहार लगाई, लेकिन नियम का हवाला देते हुए उन्हें वापस नहीं लिया। उसके बाद शिक्षक सहयोगी जिसका नाम भी संजय है उसके पास चेतावनी भरी संदेश आया, जिसके खिलाफ  24 मई, 2021 को शिकायत दर्ज कराई गई है। पूर्व मंत्री संजय राठौड ने स्पष्ट किया कि जिस संजय के खिलाफ महिला ने शिकायत दर्ज कराई है, वो संजय राठौड़ मैं नहीं हूं। मेरे खिलाफ झूठा प्रचार -प्रसार करने वाली विपक्ष हमारी राजनीतिक भविष्य समाप्त करना चाहती है। उन्होंने यह भी कहा कि पिछले आरोपों के आधार पर आरोप लगाए जा रहे हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget