क्रुणाल के कोरोना टेस्ट में हुई देरी

चिकित्सा अधिकारी पर उठे सवाल

krunal pandya

नई दिल्ली 

श्रीलंका दौरे के दौरान कोविड-19 पॉजिटिव हुए क्रुणाल पांड्या ने गले में दर्द महसूस होने के तुरंत बाद इसकी जानकारी बीसीसीआई के चिकित्सा अधिकारी को दी थी लेकिन फिर भी उनकी आरटी-पीसीआर जांच एक दिन बाद हुई जिससे चिकित्सा अधिकारी की सक्रियता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। अगर दौरे पर चिकित्सा अधिकारी तुरंत सक्रिय हुए होते तो कोविड-19 जांच में पॉजिटिव पाए गए पांड्या के करीबी संपर्क के आठ खिलाड़ी क्वारंटाइन में जाने से बच जाते, क्योंकि इसके कारण वे दो टी-20 इंटरनेशनल मैचों में नहीं खेल पाए। 

पता चला है कि क्रुणाल  ने गले में दर्द के लक्षण महसूस होने के बाद तुरंत टीम के साथ गए डॉक्टर अभिजीत साल्वी को 26 जुलाई को इसके बारे में बताया, लेकिन उस समय तो रैपिड एंटीजन टेस्ट हुआ और न ही खिलाड़ी को क्वारंटाइन में भेजा गया। बल्कि गले में दर्द के बावजूद टीम के डॉक्टर ने खिलाड़ी को टीम बैठक में शिरकत करने की मंजूरी दी और 27 जुलाई की सुबह को ही उनका आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया। रिपोर्ट दोपहर में आयी, जिसके बाद बीसीसीआई और श्रीलंका क्रिकेट ने संयुक्त रूप से मिलकर मैच को एक दिन के लिए स्थगित करने का फैसला किया, क्योंकि इस खिलाड़ी के आठ करीबी खिलाड़ियों का भी परीक्षण किया गया था।    

शुरू में सभी जांच में नेगेटिव आए लेकिन श्रीलंका से रवाना होने से पहले कृष्णप्पा गौतम और युजवेंद्र चहल को भी पॉजिटिव पाया गया। शिखर धवन की अगुआई वाली भारत की सफेद गेंद की टीम ने इस दौरे पर तीन वनडे और तीन टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले थे। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget