हथकरघा उत्पादन को मिलेगा बढ़ावा


नई दिल्ली

सरकार ने तीन साल की अवधि में हथकरघा के उत्पादन को दोगुना और निर्यात को चौगुना करने के लिए आठ सदस्यीय समिति का गठन किया। समिति इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए एक कार्य योजना का सुझाव देगी। फैशन डिजाइन काउंसिल ऑफ इंडिया (एफडीसीआई) के चेयरमैन सुनील सेठी की अध्यक्षता में इस समिति का गठन किया है। समिति को 45 दिनों के भीतर अपनी अंतिम रिपोर्ट सौंपनी होगी। कपड़ा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यह समिति उत्पादन को दोगुना करने और हथकरघा उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार के लिए रणनीति और नीतिगत ढांचे को लेकर सुझाव देगी। मंत्रालय ने कहा कि समिति अपनी प्रारंभिक सिफारिशें 30 दिनों के भीतर और अंतिम रिपोर्ट समिति के गठन के दिन से 45 दिनों के भीतर प्रस्तुत करेगी। कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में कहा था कि हथकरघा उत्पादन को तीन वर्ष में लगभग 60,000 करोड़ रुपए के मौजूदा स्तर से दोगुना करने की जरूरत है और निर्यात 2,500 करोड़ रुपए से 10,000 करोड़ रुपए तक पहुंचना चाहिए। इस समिति में एनआईएफटी के प्रोफेसर सुधा ढींगरा, स्वतंत्र लेखक शेफाली वैद्य, मैसर्स सौदामिनी हैंडलूम्स के मालिक अनगा गाइसस, फैशन डिजाइनर अनगा गाइसस, मैसर्स एसकेए एडवाइजर्स प्रा. लि के प्रबंध निदेशक सुनील अलघ, मेसर्स पैराडाइम इंटरनेशनल के, केएन प्रभु और साइंस इंजीनियरिंग एंड साइंस इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजिकल अपलिफ्टमेंट फाउंडेशन के चेयरमैन हेतल आर मेहता शामिल है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget