संसद में हंगामा- सड़क पर ड्रामा!

सदन में हाथापाई करते दिखे मार्शल-सांसद


नई दिल्ली

हंगामे के चलते राज्यसभा अनिश्चितकाल तक स्थगित होने के अगले दिन गुरुवार को विपक्ष ने सड़क पर मार्च कर सरकार को घेरने की कोशिश की तो सरकार की तरफ से विपक्षी सांसदों के कारनामों  को वीडियो के माध्यम से सार्वजनिक कर दिया। गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 15 विपक्षी दलों के साथ संसद से विजय चौक तक मार्च निकाला। आरोप लगाया कि सरकार ने सदन में लोकतंत्र की हत्या की। इसके करीब एक घंटे बाद सरकार के 8 मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और विपक्ष के हर आरोप का सिलसिलेवार ढंग से जवाब दिया। 

देर शाम संसद में तैनात सिक्योरिटी अधिकारियों का बयान सामने आया। उन्होंने बताया कि सांसदों का बर्ताव बेहद आक्रामक था। सिक्योरिटी असिस्टेंट अक्षिता भट ने बताया कि कुछ पुरुष सांसद जो प्रदर्शन में शामिल थे, मेरी तरफ दौड़े और सुरक्षा घेरा तोड़ने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि जब मैंने इसका विरोध किया, तो सांसद छाया वर्मा और फूलो देवी नेताम एक तरफ हट गईं और पुरुष सांसदों को वेल तक पहुंचने का रास्ता दिया। अक्षिता ने कहा कि दोनों महिला सांसदों ने सुरक्षा घेरा तोड़ने में साथी पुरुष सांसदों की मदद की। उन्होंने जबरदस्ती मेरी बांहें पकड़ लीं और मुझे घसीटा।

 सिक्योरिटी अधिकारी राकेश नेगी ने बताया कि 11 अगस्त को मुझे राज्यसभा में मार्शल ड्यूटी के लिए तैनात किया गया था। इस दौरान सांसद एलमारन करीम और अनिल देसाई ने सुरक्षा घेरा तोड़ने की कोशिश की। सांसद एलमारन करीम ने मेरी गर्दन पकड़ ली और मुझे सुरक्षा घेरे से दूर करने लगे। इससे मुझे कुछ पल के लिए घुटन होने लगी।

दोषी सांसदों के खिलाफ होगी कार्रवाई!

संसद के मानसून सत्र में विपक्षी सांसदों के हंगामे को लेकर गुरुवार को उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू और लोकसभा के अध्‍यक्ष ओम बिरला की गुरुवार को बैठक हुई। उन्‍होंने हाल के सत्र के दौरान संसद में घटनाओं के दुर्भाग्यपूर्ण क्रम की समीक्षा की। उपराष्ट्रपति सचिवालय ने बयान जारी कर कहा कि उन्होंने कुछ सांसदों के विघटनकारी व्यवहार पर गहरी चिंता व्यक्त की। उन्होंने दृढ़ता से महसूस किया कि इस तरह के अनियंत्रित व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और उचित कार्रवाई की जानी चाहिए। ज्ञात हो कि केंद्र सरकार ने हंगामे के लिए कमेटी बना कर दोषी सांसदों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget