जीका वायरस को लेकर मनपा सतर्क

mosquito

मुंबई

पुणे में जीका वायरस का मामला मिलने के बाद मनपा भी सतर्क हो गई है। मनपा का स्वास्थ्य विभाग अब शहर की गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए है। खासकर उन महिलाओं पर जिन्हें बुखार की शिकायत है। पुणे में एक 50 वर्षीय महिला में जीका वायरस की पुष्टि हुई है, जिसके बाद पूरा स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड़ पर हो गया है। इतना ही नहीं केंद्र से भी टीम राज्य में पहुंच गई है। पुणे में तेजी सर्विलांस शुरू कर दिया गया है।

गौरतलब है कि जीका वायरस एडीज प्रजाति के मच्छर से काटने से होता है। जीका वायरस का सबसे ज्यादा खतरा गर्भवती महिला को होता है, क्योंकि वायरस माता से भ्रूण में पल रहे बच्चे में ट्रांसमिट हो जाता है और इसके बच्चे को जन्मजात गंभीर रोग हो जाता है। इस खतरे को देख मनपा का स्वास्थ्य विभाग भी चौकन्ना हो गया है। मनपा की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मंगला गोमारे ने बताया कि जीका वायरस से आम आदमी को उतना खतरा नहीं जितना गर्भवती महिलाओं को है। वैसे तो अभी तक हमें जीका का कोई भी संदिग्ध मरीज नहीं मिला है, लेकिन हमने अपने हेल्थ ऑफिसर्स, मैटरनिटी होम, हेल्थ पोस्ट पर सभी को सूचना दी है कि वे गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य ध्यान दें। खासकर उन महिलाओं की जिन्हें बुखार की शिकायत है। जरूरत पड़ने पर न केवल जीका, बल्कि कोरोना, डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया टेस्ट करने के लिए भी कहा गया है। मनपा स्वास्थ्य विभाग के एक डॉक्टर ने बताया कि हमें भी जीका को लेकर राज्य सरकार से नियमावली भेजी गई है। हमें यदि कोई व्यक्ति में जीका का संदेह लगता है तो उसकी तत्काल जांच करने के आदेश दिए गए हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget