फर्जी दस्तावेज पर रहने वाले बांग्लादेशी गिरफ्तार

ठाणे

ठाणे अपराध शाखा ने बांग्लादेशी नागरिकों के लिए भारतीय पासपोर्ट बनाने में शामिल एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार बांग्लादेशी आरोपी को अदालत में पेश करने पर उसे 16 अगस्त तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।  

पुलिस ने सूरत जाकर 11 बांग्लादेशी नागरिकों को भी गिरफ्तार किया है। जिसमें से तीन आरोपियों को कलवा पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि बाकी आठ आरोपियों को सूरत पुलिस को सौंप दिया गया है। पुलिस ने 12 भारत निर्मित पासपोर्ट, पश्चिम बंगाल में बने पांच जन्म प्रमाण पत्र, चार आधार कार्ड, चार पैन कार्ड और चार सिम कार्ड, साथ ही बांग्लादेश बैंक के दो एटीएम कार्ड जब्त किए हैं। आरोपियों में राजू उर्फ फारूक सफी मुल्ला, श्रृति राजू मुल्ला उर्फ सुमी, मोहम्मद इमोन मोइन खान का नाम शामिल हैं। मोहम्मद सैफुल अलाउद्दीन मुल्ला बांग्लादेश में रहता है। ठाणे क्राइम ब्रांच यूनिट-1 को सूचना मिली थी कि विटवा, कलवा ठाणे में एक बांग्लादेशी घुसपैठिया आ रहा है। जिसके बाद राजू उर्फ फारूक सफी मुल्ला को जाल बिछाकर गिरफ्तार किया गया।  

पश्चिम बंगाल में बनता था दस्तावेज

आरोपी खुफिया रास्ते से भारत में प्रवेश करते थे। जिसके बाद पश्चिम बंगाल में एजेंटों के माध्यम से नकली कागजात बनाये जाते थे। जिसमें आधार कार्ड, जन्म प्रमाणपत्र, पैनकार्ड और दूसरे कागजात शामिल हैं। जिसके बाद मुंबई और ठाणे में आकर भाड़े पर घर लेकर एग्रीमेंट के जरिये घर का पता बदलते थे। जिसके आधार पर बैंक खाता खोलते और आईटी रिटर्न भी फाइल करते थे। जिसके बाद पासपोर्ट बनाने की तैयारी शुरू होती थी। पासपोर्ट बनने के बाद उन्हें मॉरिशस, मालदीव और बांग्लादेश भेजा जाता था।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget