सिद्धू को झटका, अमरिंदर ही कैप्टन

पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत की दो टूक

amarinder sidhu

चंडीगढ़/देहरादून

पंजाब कांग्रेस की कमान नवजोत सिंह सिद्धू को सौंपे जाने के बाद भी पार्टी में जारी कलह खत्‍म होने का नाम नहीं ले रही है। सिद्धू के सलाहकारों के विवादित बयानों को लेकर मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह खुलकर विरोध जता चुके हैं। बुधवार को कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने भी कहा कि सिद्धू अपने सलाहकारों को काबू में रखें। इन सलाहकारों का कांग्रेस से कोई लेना-देना नहीं है। किसी सलाहकार से कांग्रेस को नुकसान होता है तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।

कैप्टन के नेतृत्व में लड़ेंगे चुनाव

देहरादून में मीडिया से बातचीत में हरीश रावत ने कहा कि हमने बड़ी मेहनत से पंजाब में एक आशा का वातावरण पैदा किया है। मेरा कांग्रेस के लोगों से आग्रह है कि इस विश्‍वास को खंडित न करें। रावत ने स्‍पष्‍ट किया कि अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह के नेतृत्‍व में ही लड़ा जाएगा।

गौरतलब है कि पंजाब के चार कैबिनेट मंत्रियों और कांग्रेस के कई विधायकों ने मंगलवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद किया था। चार मंत्रियों तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, सुखबिंदर सिंह सरकारिया, सुखजिंदर सिंह रंधावा, चरणजीत सिंह चन्नी और लगभग 24 विधायकों ने कैप्टन के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया। इन नेताओं ने कहा कि उन्हें कैप्टन पर पर 'विश्वास' नहीं है, क्योंकि उन्होंने 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले किए गए वादों को पूरा नहीं किया है। इस घटनाक्रम से पंजाब कांग्रेस में संकट गहराने और अमरिंदर सिंह के खिलाफ खुले विद्रोह के तौर पर देखा जा रहा है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget