पीएम मोदी की 'अगस्त क्रांति'

विपक्ष पर हमलाः कुछ लोग सियासी स्वार्थ में सेल्फ गोल करने में जुटे, मगर ये देश रुकने वाला नहीं


लखनऊ

'ये 5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष बन गई है। ये 5 अगस्त ही है, जब 2 साल पहले देश ने एक भारत, श्रेष्ठ भारत की भावना को और सशक्त किया था। 5 अगस्त को ही, आर्टिकल-370 को हटाकर जम्मू कश्मीर के हर नागरिक को हर अधिकार, हर सुविधा का पूरा भागीदार बनाया गया था।

यही 5 अगस्त है जब कोटि-कोटि भारतीयों ने सैकड़ों साल बाद भव्य राम मंदिर के निर्माण की तरफ पहला कदम रखा। आज अयोध्या में तेजी से राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। आज 5 अगस्त की तारीख, फिर एक बार हम सभी के लिए, उत्साह और उमंग लेकर आई है। आज ही, ओलंपिक के मैदान पर देश के युवाओं ने हॉकी के अपने गौरव को फिर स्थापित करने की तरफ बड़ी छलांग लगाई है तो भारत के सपूत पहलवान रवि दहिया ने कुस्ती में सिल्वर मेडल जीतकर देश को गौरवान्वित किया है', पीएम मोदी की यह 'अगस्त क्रांति' यूपी में अन्य महोत्सव की शुरुआत के साथ हुई।

इस मौके पर पीएम ने प्रदेश के 5 लाभार्थियों से संवाद किया। इसके बाद PM ने कहा, दिल्ली से अन्न का एक-एक दाना भेजा गया, वह आपकी थाली तक पहुंच रहा है। पहले की सरकारों के समय UP में गरीब के अनाज की जो लूट हो जाती थी, उसके लिए अब कोई रास्ता नहीं बचा है।

PM ने संसद के मानसून सत्र में विपक्ष के हंगामे पर भी निशाना साधा। उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिए बगैर कहा, एक तरफ हमारा देश, हमारे युवा भारत के लिए नई सिद्धियां प्राप्त कर रहे हैं, जीत का गोल कर रहे हैं तो वहीं देश में कुछ युवा ऐसे भी हैं जो राजनीतिक स्वार्थ में सेल्फ गोल करने में जुटे हैं।

PM ने कहा, देश क्या चाहता है, देश क्या हासिल कर रहा है, देश कैसे बदल रहा है? इससे इनको कोई सरोकार नहीं है। ये महान देश ऐसी स्वार्थ और देशहित विरोधी राजनीति का बंधक नहीं बन सकता। ये लोग देश को, देश के विकास को रोकने की कितनी भी कोशिश कर लें, ये देश इनसे रुकने वाला नहीं है। हर कठिनाई को चुनौती देते हुए, देश हर मोर्चे पर तेजी से आगे बढ़ रहा है।

जो लोग सिर्फ अपने पद के लिए परेशान हैं, वो अब भारत को रोक नहीं सकते। नया भारत, पद नहीं पदक जीतकर दुनिया में छा रहा है। नए भारत में आगे बढ़ने का मार्ग परिवार नहीं, बल्कि परिश्रम से तय होगा और इसलिए, आज भारत का युवा कह रहा है भारत चल पड़ा है, भारत का युवा चल पड़ा है।

लद्दाख में दुनिया की सबसे ऊंची रोड बनी: हर चुनौती को चुनौती देते हुए भारत ने लद्दाख में दुनिया की सबसे ऊंची मोटरेबल रोड का निर्माण पूरा किया। हाल ही में भारत ने e-RUPI लांच किया है जो आने वाले समय में डिजिटल इंडिया को मजबूती देगा और वेलफेयर स्कीम के लक्ष्य और उद्देश्यों को पूरा करेगा।

पहले व्यवस्था चरमरा जाती थीं 

100 साल का यह सबसे बड़ा संकट, सिर्फ महामारी का ही नहीं है बल्कि इसमें कई मोर्चों पर है। अतीत में हमने अनुभव किया है जब देश में इस तरह का बड़ा संकट आता था तब देश की तमाम व्यवस्थाएं पूरी तरह से चरमरा जाती थीं, लेकिन आज भारत और भारत का प्रत्येक नागरिक पूरी ताकत से इस महामारी का सामना कर रहा है।

जो लोग सिर्फ अपने पद के लिए परेशान हैं, वो अब भारत को रोक नहीं सकते। नया भारत, पद नहीं पदक जीतकर दुनिया में छा रहा है। नए भारत में आगे बढ़ने का मार्ग परिवार नहीं, बल्कि परिश्रम से तय होगा और इसलिए, आज भारत का युवा कह रहा है भारत चल पड़ा है, भारत का युवा चल पड़ा है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget