दो फर्जी कंपनियों पर कार्रवाई

सरकारी खजाने को लगाया 400 करोड़ का चूना

पटना

वाणिज्य कर विभाग द्वारा फर्जी फर्मों के जरिए कारोबार दिखाकर सरकारी खजाने को चूना लगाने वालों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। वाणिज्य कर आयुक्त सह सचिव प्रतिमा एस. के निर्देश पर विभाग द्वारा बिल ट्रेडिंग में संलिप्त दो फर्जी कंपनियों के विरुद्ध पटना एवं मुंगेर में यह कार्रवाई की गई। जांच में दोनों ही फर्म फर्जी पाई गई हैं। इनमें से कोई भी फर्म अपने घोषित पते पर नहीं मिली। विभागीय जांच के दौरान पता चला कि इन दोनों फर्मों द्वारा लगभग 400 करोड़ से ज्यादा का संव्यवहार किया गया है। इन मामलों में न सिर्फ करीब 20 करोड़ के फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) द्वारा कर अपवंचना का पर्दाफाश हुआ है, बल्कि प्रथम दृष्टया जीएसटी प्रावधानों के उल्लंघन का मामला भी सामने आया है। निरीक्षण के क्रम में यह पाया गया है कि इनके द्वारा फर्जी कागजातों के आधार पर पटना तथा मुंगेर में निबंधन लिया गया है। इन दोनों फर्मों के द्वारा बिहार के बाहर मध्य प्रदेश में मुरैना, राजस्थान में जयपुर, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश एवं झारखंड को बड़े पैमाने पर सरसों की बिक्री दिखाई गई है जिसमें ऐसे व्यवसायी शामिल हैं जो सरसों तेल के मिलों को सप्लाई करते हैं। आयुक्त सह सचिव ने बताया कि विभाग द्वारा फर्जी कारोबारियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। विभाग का केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो डाटा एनालिटिक्स एवं ह्यूमन इंटेलिजेंस की मदद से 360 डिग्री प्रोफाइल बनाते हुए तीसरी आंख की तरह फर्जी प्रतिष्ठानों पर पैनी नजर बनाये हुए है। चालू माह में विभाग द्वारा ऐसी तीसरी बड़ी कार्रवाई की गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget