भारत और इंग्लैंड की टीम पर जुर्माना


दुबई

भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला बारिश में धुल गया था। इस स्थिति में आईसीसी ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के निर्धारित अंक दोनों टीमों को दे दिए थे, लेकिन अब आईसीसी ने भारत और इंग्लैंड की टीम पर जुर्माना ठोका है और दोनों टीमों को सजा भी दी है, क्योंकि नॉटिंघम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में धीमी ओवर गति को बनाए रखने के लिए इंग्लैंड और भारत पर जुर्माना लगा है और आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के कुछ अंक भी काट लिए गए हैं। नॉटिंघम टेस्ट मैच में स्लो ओवर रेट के लिए बुधवार को आईसीसी ने भारत और इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर मैच फीस का 40 प्रतिशत जुर्माना लगाया है और आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो-दो अंक भी जुर्माने के तौर पर काटे गए हैं। आईसीसी एलीट पैनल के मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने समय सीमा को ध्यान में रखने के बाद दोनों पक्षों को अपने लक्ष्य से दो ओवर कम फेंके जाने का दोषी पाया है। खिलाड़ियों और प्लेयर सपोर्ट स्टाफ के लिए आईसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.22 के अनुसार जो न्यूनतम ओवर-रेट अपराधों से संबंधित है, खिलाड़ियों पर उनकी मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाता है, जब उनकी टीम आवंटित समय में गेंदबाजी करने में विफल रहती है। इसके अलावा आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप खेलने की स्थिति के अनुच्छेद 16.11.2 के अनुसार एक पक्ष को प्रत्येक ओवर शॉर्ट के लिए एक अंक का दंड दिया जाता है। इसी तरह दोनों टीमों को दो-दो अंकों का दंड दिया गया है, क्योंकि दोनों टीमों ने निर्धारित समय में अपने सभी ओवर नहीं फेंके। इंग्लैंड टीम के कप्तान जो रूट और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने स्लो ओवर रेट का दोषी पाए जाने के बाद प्रस्तावित प्रतिबंधों को स्वीकार कर लिया, इसलिए औपचारिक सुनवाई की कोई आवश्यकता नहीं है। मैदानी अंपायर माइकल गॉफ और रिचर्ड केटलबोरो, तीसरे अंपायर रिचर्ड इलिंगवर्थ और चौथे अंपायर डेविड मिल्स ने विराट और रूट पर स्लो ओवर रेट के आरोप लगाए थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget