अजेय बढ़त पर भारत की नजर


लीड्स

कप्तान विराट कोहली लंबे समय से चली आ रही अपनी खराब फॉर्म से पार पाकर इंग्लैंड के खिलाफ आज से यहां शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में बड़ा स्कोर बनाने के साथ भारत को पांच मैचों की श्रृंखला में अजेय बढ़त दिलाने की कोशिश करेंगे। कोहली ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक नवंबर 2019 में लगाया था। वह वर्तमान श्रृंखला में दो अवसरों पर 40 रन के पार पहुंचे लेकिन बड़ा स्कोर बनाने में नाकाम रहे। उनसे हालांकि हमेशा बड़े स्कोर की उम्मीद की जाती है।

उन्होंने पहले दो टेस्ट मैचों में ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों पर अपने विकेट गंवाये। ऐसे में उनसे हैंडिग्ले में इस तरह की गेंदों के सामने बेहतर तकनीकी के साथ बल्लेबाजी करने की उम्मीद की जा रही है।

चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की फॉर्म भी भारत के लिये चिंता का विषय है। इन दोनों ने हालांकि लार्ड्स टेस्ट के चौथे दिन लगभग 50 ओवर तक बल्लेबाजी करके फॉर्म में वापसी के संकेत दिये हैं। इससे मैच पांचवें दिन तक खिंच गया, जिसके बाद तेज गेंदबाजों ने भारत को जीत दिलायी और श्रृंखला में 1-0 से आगे किया।

सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और केएल राहुल का प्रदर्शन भारत के लिये बल्लेबाजी विभाग में सकारात्मक पहलू रहा है। इन दोनों ने चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में अपने संयम और तकनीक का अच्छा नमूना पेश करके भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी।

चोटिल मयंक अग्रवाल की जगह टीम में लिये गये राहुल प्रत्येक अगली पारी में अधिक आत्मविश्वास से भरे हुए दिखे और लगता है कि वह इस बात को लेकर अब सुनिश्चित हैं कि उन्हें कौन सी गेंद खेलनी है और कौन सी छोड़नी है जो कि इंग्लैंड की मुश्किल परिस्थितियों में महत्वपूर्ण होता है।

रोहित भी बहुत अच्छी लय में दिख रहे हैं और उन्हें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि उन्हें अपना पसंदीदा पुल शॉट कब खेलना है क्योंकि श्रृंखला में दो अवसरों पर वह यह शॉट खेलकर आउट हुए।

ऋषभ पंत अपने नैसर्गिक अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं जबकि रविंद्र जडेजा ने भी सातवें नंबर पर बहुत अच्छी भूमिका निभायी है। 

वान ने टीम इंडिया को बताया सीक्रेट

आर अश्विन तीसरे टेस्ट मैच में भारत के लिए खेलेंगे या नहीं इसे लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने अपनी बात सबके सामने रखी। उन्होंने विश्वास जताया कि अश्विन को तीसरे टेस्ट मैच में खेलना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर हेडिंग्ले टेस्ट मैच में अश्विन को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिलता है तो ये काफी आश्चर्यजनक होगा। वान को उम्मीद है कि हेडिंग्ले की पिच थोड़ी सूखी होगी और कम या बिना बारिश के हस्तक्षेप की भविष्यवाणी के साथ स्पिनरों को मदद मिल सकती है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान को लगता है कि भारत को टेस्ट मैच में दो स्पिनरों और तीन तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरना चाहिए।

भारतीय गेंदबाजी अटैक के कायल रूट

पिछले कुछ सालों से भारतीय टीम के बॉलिंग अटैक में जबरदस्त सुधार हुआ है, खासकर फास्ट बॉलिंग डिपार्टमेंट में। मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद सिराज की चौकड़ी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की बेस्ट बॉलिंग यूनिट के तौर पर उभरकर सामने आई है। इस चौकड़ी का ही कमाल था, जिसकी वजह से टीम इंडिया ने इंग्लैंड को ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर हार की स्थिति में होने के बावजूद 151 रनों से धूल चटा दी। इस प्रदर्शन के बाद इस बॉलिंग अटैक को दुनियाभर के लोगों ने सराहा, लेकिन अगर उन्हें यहां खुद इंग्लिश कप्तान जो रूट से तारीफ मिलती है, तो यह अपने आप में बड़ी बात है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget