ग्यारहवीं में प्रवेश के लिए CET परीक्षा नहीं


मुंबइ

महाराष्ट्र में 11वीं कक्षा में प्रवेश के लिए होने वाली सीईटी(FYJC CET) की परीक्षा को बॉम्बे हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया है। दसवीं पास कर चुके छात्रों के लिए आगामी 21 अगस्त को यह सीईटी की परीक्षा होने वाली थी, लेकिन हाईकोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद इस परीक्षा को रद्द करने का फैसला लिया है।

16 जुलाई को दसवीं का रिजल्ट

महाराष्ट्र के स्टेट बोर्ड ने 16 जुलाई को दसवीं का रिजल्ट घोषित किया था। बॉम्बे हाई कोर्ट में दाखिल किए गए हलफनामे के मुताबिक राज्य में ग्यारहवीं के एडमिशन के लिए सीईटी की परीक्षा आयोजित की जाने वाली थी। इसके लिए एक वेब पोर्टल भी तैयार किया गया था। सीईटी एग्जाम के लिए आवेदन करने की तारीख दो अगस्त तक रखी गई थी।

क्वेश्चन पेपर पर फंसा पेंच

आईसीएसई की स्टूडेंट ने क्वेश्चन पेपर के सिलेबस को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिसमें यह कहा गया था कि प्रश्नपत्र महाराष्ट्र बोर्ड के सिलेबस पर आधारित होगा। ऐसे में दूसरे बोर्ड के स्टूडेंट्स को दिक्कत हो सकती थी। आईसीएसई बोर्ड की स्टूडेंट अनन्या पतकी ने अपने पिता एडवोकेट योगेश पतकी के जरिये हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी। जिसमें यह मांग की गई थी कि राज्य सरकार द्वारा 28 मई को ग्यारहवीं कक्षा में प्रवेश के लिए जारी  किए गए आदेश को रद्द किया जाए।

इसके अलावा सीईटी परीक्षा के लिए आवेदन की डेट 2 अगस्त को खत्म हुई थी जबकि सीबीएसई बोर्ड के दसवीं के छात्रों का रिजल्ट 3 अगस्त को घोषित किया गया। जिसके चलते सीबीएसई के स्टूडेंट्स के सामने एडमिशन की दिक्कत पैदा हो गई थी। अदालत में आशुतोष कुंभकोणी ने सरकार का पक्ष रखा।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget