जन्माष्टमी को लेकर भाजपा-MVA आमने-सामने


मुंबई

राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और महा विकास अघाड़ी (एमवीए) एक बार फिर आमने-सामने है। इस बार दोनों के बीच जुबानी जन्म कृष्ण जन्माष्टमी मनाने को लेकर चल रही है। महाराष्ट्र भाजपा ने घोषणा की है कि वह कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार पूरे उत्साह के साथ मनाएगी। दूसरी ओर एमवीए सरकार ने चेतावनी दी है कि नियम तोड़ने वाले सभी लोगों पर गंभीर कार्रवाई होगी। आपको बता दें कि देश अगस्त के अंत में कृष्ण जन्माष्टमी मनाएगा। वर्तमान कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि त्योहार के समय सख्त एसओपी लागू की जाएगी। हालांकि, इससे पहले कि राज्य सरकार त्योहार के लिए कोरोना प्रोटोकॉल जारी कर पाती, भाजपा ने अपनी उत्सव योजना की घोषणा कर दी है। महाराष्ट्र भाजपा ने एमवीए सरकार को हिंदू विरोधी करार देते हुए कहा कि वह उसके द्वारा जारी किए गए किसी भी हिंदू विरोधी आदेश की अवहेलना करेगी। भाजपा नेता ने कहा, ‘महाराष्ट्र सरकार ने शराब की दुकानों को खोलने की इजाजत दे दी है। बीयर बार को भी सामान्य रूप से काम करने की अनुमति दी गई है, लेकिन उन्होंने (एमवीए सरकार) ने अभी भी मंदिरों को फिर से खोलने की अनुमति नहीं दी है। उन्होंने रास्ते में रुकावटें डाल दी हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “पिछले दो वर्षों से, देश के लोगों ने इस राज्य सरकार के राष्ट्र विरोधी चरित्र को देखा है। अब सरकार में बैठे लोग कहेंगे कि भगवान कृष्ण के जन्म का त्योहार मत मनाओ।’’ भाजपा नेता ने कहा, “हम सरकार के किसी भी हिंदू विरोधी आदेश को नहीं सुनेंगे। हम कृष्ण जन्माष्टमी - भगवान कृष्ण के जन्म उत्सव को पूरे उत्साह के साथ मनाएंगे।” उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करेंगे, लेकिन जश्न जारी रहेगा। भाजपा नेता ने कहा, “सरकार कोविड -19 प्रोटोकॉल के संबंध में नियम बना सकती है। हम नियमों का पालन करेंगे।

” भाजपा के बयान ने सत्तारूढ़ एमवीए गठबंधन से प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उल्लंघन करने वालों को कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा, “भाजपा और मनसे(महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) के नेता कह रहे हैं कि वे दही हांडी से संबंधित कार्यक्रम आयोजित करेंगे और जश्न मनाएंगे।” 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget