एसटी महामंडल को मिले 500 करोड़ रुपए

कर्मचारियों की वेतन समस्या का होगा समाधान


मुंबई

कोरोना की वजह से भारी आर्थिक संकट में फंसे एसटी महामंडल को सरकार की तरफ से फिर 500 करोड़ रुपए की मदद दी गई है। तंगहाल एसटी महामंडल अपने कर्मचारियों का वेतन देने में नाकाम रहा है, इसके फलस्वरूप पिछले दिनों एक एसटी कर्मचारी ने खुदकुशी कर ली थी। इससे काफी बवाल मचा। विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा और उनसे मसले के समाधान के लिए व्यक्तिगत स्तर पर पहल करने की अपील की थी।

राज्य के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजित पवार ने वेतन और आवश्यक कार्यों के लिए 500 करोड़ रुपए की रकम एसटी महामंडल को देने का निर्देश दिया, जिसके बाद यह रकम तत्काल वितरित कर दी गई। चालू वित्त वर्ष में एसटी महामंडल के लिए 1450 करोड़ रुपए का बजटीय प्रावधान किया गया था। इसमें से 838 करोड़ रुपए पहले ही एसटी महामंडल को दिए जा चुके है। बाकी बचे 612 करोड़ में से 500 करोड़ रुपए की रकम तत्काल एसटी महामंडल को प्रदान कर दी गई है। उपमुख्यमंत्री के निर्देशानुसार रकम वितरित होने से एसटी कर्मचारियों के वेतन सहित महामंडल की अन्य आर्थिक समस्याओं का समाधान हो सकेगा। कोरोना संकट की वजह से एसटी महामंडल की आय पर विपरीत असर पड़ा है। महामंडल की आर्थिक सेहत को सुधारने के लिए उपमुख्यमंत्री की अध्यक्षता में एक विशेष समिति काम कर रही है। समिति की अभी हाल ही में हुई बैठक में महामंडल की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के उपायों पर चर्चा की गई। इस अनुसार आने वाले वक्त में कार्रवाई की जाएगी। उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने  500 करोड़ रुपए वितरित करने के निर्देश दिए। इसके बाद तत्काल निधि वितरित की गई। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget