पांचवें दिन 5,148 मूर्तियों का विसर्जन

मुंबई

गणेशोत्सव के पांचवें दिन गौरी गणपति के साथ घरेलू और सार्वजनिक मूर्तियों का विसर्जन किया जाता है। मुंबई में कुल 2 लाख घरेलू और 12000 सार्वजनिक मूर्तियां स्थापित हैं। इन मूर्तियों का विसर्जन पहले, पांचवें, सातवें और दसवें दिन किया जाता है। मुंबई में पिछले डेढ़ साल से कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए पाबंदियां लगाई गई हैं। पांचवे दिन शाम 6 बजे तक 5,148 प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। जिसमें 44 सार्वजनिक, 4,553 घरेलू, 551 गौरी गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।   

मनपा प्रशासन ने विसर्जन को लेकर पूरी तैयारियां पहले की थी। मनपा ने मूर्ति संग्रह केंद्र, कृत्रिम तालाब या प्राकृतिक विसर्जन स्थलों पर तैनात किए गए मनपा कर्मचारियों को मूर्ति सौंपने से पहले अपने घर या मंडल में पूजा और आरती करना अनिवार्य है, क्योंकि तालाबों के पास आरती करने पर रोक लगाई गई है।

महापौर ने किया विसर्जन

महापौर ने अपने आवास पर बिठाई गई गणपति की मूर्ति को कृत्रिम तालब में ही विसर्जित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नागपुर खंडपीठ ने गणेश प्रतिमाओं को प्राकृतिक स्थानों पर विसर्जित करने पर रोक लगा दी है। कोर्ट के इस आदेश का पालन किया जा रहा है। हमारा उद्देश्य बप्पा का सहज विसर्जन सुनिश्चित करना है और इसके लिए मुंबई में विसर्जन स्थलों की संख्या बढ़ाई जा रही है। सोसायटियों में विसर्जन की व्यवस्था की जाएगी। मनपा प्रशासन ने प्रशासन के कर्मचारी विसर्जन मूर्तियों को चौपाटी के बाहर ले जाकर विसर्जित करेंगे। इसके लिए मनपा ने पूरी तैयारी की है। महापौर ने कहा कि अगर मुंबईवासी गणेश विसर्जन के लिए आते हैं, तो यह सहज विसर्जन सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा। कृत्रिम झीलों की संख्या बढ़ाई जाएगी ताकि विसर्जन के दौरान नागरिकों की भीड़ न लगे। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget