वायरल फीवर का कहर पटना AIIMS में बेड फुल

पटना

राज्य में वायरल फीवर का कहर लगातार जारी है। इसी बीच पटना के एम्स से खबर है कि यहां पर आईपीडी में सभी बेड फुल हो गया है। वहीं भागलपुर में एक बेड पर अस्पताल द्वारा तीन बच्चों का इलाज किया जा रहा है। बता दें कि बिहार में निमोनिया, ब्रोंकाइटिस और वायरल फीवर का प्रकोप एक साथ बच्चों पर पड़ा है।  जानकारी के अनुसार भागलपुर के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल के इमरजेंंसी में बने शिशु रोग विभाग में एक बेड पर तीन बच्चे हैं, जबकि पीजी शिशु रोग विभाग में काफी संख्या में बेड खाली है। वायरल वार्ड भी खाली है। अस्पताल अधीक्षक डॉ एके दास से पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि इसकी कोई जानकारी नहीं है। सभी बच्चे को दूसरी जगह शिफ्ट करने का आदेश दिया जा रहा है।

 पटना एम्स में बेड फुलः बता दें कि पटना एम्स में कुल 75 बेड हैं, जिनमें ओपीडी में 60 और आईसीयू 15 बेड हैं। वायरल फीवर के मरीज आने के बाद सभी बेड फुल हो गए हैं, वहीं पांच अभी भी वेटिंग लिस्ट में है। बताया जा रहा है कि एम्स में रोज पांच से सात मरीज भर्ती होने आ रहे हैं।इधर, वायरल बुखार की चपेट में सबसे अधिक बच्चे पांच साल से कम उम्र के हुए हैं। मुजफ्फरपुर जिले में आठ दिनों में 499 पांच साल से कम उम्र के पीड़ित हुए, जबकि पांच साल से दस साल के उम्र के 351 बच्चे वायरल बुखार की चपेट में आये। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में पिछले आठ दिनों में 12 सीएचसी व चार पीएचसी में 850 बच्चें इलाज कराने पहुंचे। इलाज कराने वाले बच्चों में जीरो से 11 माह के, 12 से 24 माह, 25 से 60 माह और 61 से 120 माह के बच्चे शामिल हैं। बच्चे के वायरल बुखार की चपेट में आने के बाद स्वास्थ्य विभाग सोशियो इकोनामिक सर्वे करायेगा।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget