ठेकेदार पर कार्रवाई के लिए भाजपा-कांग्रेस एक साथ

मुंबई

घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर नवनिर्मित ब्रिज की गुणवत्ता पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उद्घाटन के समय ही सवाल उठाया था। निर्माण की खराब क्वालिटी के कारण हुई दुर्घटना में एक युवक की जान जाने के बाद ब्रिज के ओर को बुधवार को बंद कर दिया गया। ब्रिज के निर्माण में गुणवत्ता पर ध्यान न दिए जाने और ब्रिज के निर्माण में हुई देरी को लेकर भाजपा नेता प्रभाकर शिंदे द्वारा ठेकेदार पर कार्रवाई करने की मांग का कांग्रेस ने भी समर्थन किया और ठेकेदार पर कठोर कार्रवाई करने की मांग मनपा विरोधी पक्ष नेता रविराजा ने की।

बता दें कि घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर निर्माण किए गए ब्रिज अभी वाहनों के लिए खुला भी नही की ब्रिज के निर्माण में गुणवत्ता को लेकर सवाल खड़ा किया जाने लगा। ब्रिज पर बने गढ्ढे और असफाल्ट का उपयोग नहीं होने से ब्रिज पर वाहनों के फिसलने की घटना घट रही है। ब्रिज पर भारी वाहनों के आवागमन की अनुमति नहीं है, जबकि देवनार डंपिंग ग्राउंड जाने के लिए मनपा की कचरे के वाहनों का आवागमन करने के लिए ब्रिज के एक हिस्से को शिवाजी नगर के पास उतारा गया है। इसके बावजूद ब्रिज पर भारी वाहनों के आवागमन की छूट नही दी गई। मनपा स्थाई समिति बैठक में भाजपा नेता प्रभाकर शिंदे ने ब्रिज पर दोपहिया वाहन के फिसलने से हुई दुर्घटना में एक युवक की जान जाने पर दुःख जताया और मनपा पर युवक की जान जाने के बाद ब्रिज के निर्माण की गुणवत्ता खराब होने पर ब्रिज को मनपा प्रशासन द्वारा बंद करने का लिए गए निर्णय पर सवाल खड़ा किया। भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि ब्रिज के निर्माण पर 300 करोड़ खर्च करने की मंजूरी दिए जाने के बावजूद ब्रिज के निर्माण में पांच साल की देरी कर ब्रिज पर 700 करोड़ खर्च किया गया। भाजपा के सवाल का मनपा विरोधी पक्ष नेता रविराजा ने भी समर्थन किया। रविराजा ने कहा ब्रिज के निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान नही दिया गया जिससे लोगो की जान चली गई। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget