किसानों का 'भारत बंद' फ्लॉप


नई दिल्ली

भारतीय किसान संघ (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने सोमवार को कहा कि किसान संगठनों का ‘भारत बंद’ सफल रहा। उन्होंने यह भी कहा कि हम सरकार के साथ बातचीत को तैयार हैं लेकिन कोई बातचीत नहीं हो रही। केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 10 महीने से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे 40 से अधिक किसान संगठनों के समूह संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने भारत बंद का आयोजन किया था। इस देशव्यापी बंद के दौरान देश भर में सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक यातायात, व्यावसायिक गतिविधियों से लेकर अन्य सेवाएं बाधित रहीं।

राकेश टिकैत ने कहा, “हमारा ‘भारत बंद’ सफल रहा। हमें किसानों का पूरा समर्थन मिला… हम सबकुछ बंद नहीं कर सकते क्योंकि हमें लोगों की आवाजाही का भी ध्यान रखना है। हम सरकार के साथ बातचीत को तैयार हैं लेकिन कोई बातचीत नहीं हो रही। आगे की रणनीति संयुक्त किसान मोर्चा बनाएगा।” 

राकेश टिकैत भले ही किसानों के भारत बंद को सफल बता रहे हैं लेकिन बंद की मिली तस्वीरें गवाही दे रही हैं कि टिकैत अपने मंसूबे में सफल नहीं हुए। पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ क्षेत्रों को छोड़कर खासकर देश के महानगरों और ग्रामीण क्षेत्रों में बंद का असर न के बराबर दिखा।

एक किसान की मौत

प्रदर्शन के दौरान दिल्ली-सिंघु बॉर्डर पर एक किसान की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि दिल का दौरा पड़ने से उसकी जान गई है। मृतक किसान की पहचान भगेल राम के तौर पर हुई है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि पोस्टमॉर्टम के बाद इसे लेकर ज्यादा जानकारी दी जा सकेगी।

विपक्षी दलों का समर्थन

इस बंद को तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, केरल, पंजाब, झारखंड और आंध्र प्रदेश सरकार ने भी अपना समर्थन दिया। इसके अलावा कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (AAP), समाजवादी पार्टी, तेलुगु देशम पार्टी (TDP), बहुजन समाज पार्टी (BSP), वाम दलों और स्वराज इंडिया ने बंद का समर्थन किया।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget