परप्रांतियों पर हमला बंद करे शिवसेना : राजहंस सिंह

मुंबई

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि महाराष्ट्र में आने वाले सारे परप्रांतियों का पंजीकरण किया जायेगा। उनके मुखपत्र में साकीनाका में एक महिला के साथ हुए अमानवीय अत्याचार की तुलना जौनपुर पॅटर्न से की गई है. मुख्यमंत्री के इस बयान की निंदा करते हुए मुंबई भाजपा उपाध्यक्ष राजहंस सिंह ने सवाल उठाया है कि क्या परप्रांतीय या उत्तर भारतीय, भारतीय नागरिक नहीं हैं? महाराष्ट्र में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिये परप्रांतियों को जिम्मेदार ठहराना मुख्यमंत्री को शोभा नहीं देता। 

सिंह ने आगे कहा कि इस प्रकार के बयान से समाज में दरार निर्माण होगा। भाषा और प्रांत के नाम पर विवाद पैदा करना हिंदुओं में दरार पैदा करने की सोची समझी साजिश तो नहीं है ? साथ ही उन्होंने सवाल किया कि हिंदुहृदय सम्राट स्व. शिवसेना प्रमुख बाळा साहेब ठाकरे के सुपुत्र होने के नाते क्या यह वह मालवणी में रहने वाले विदेश से आए घुसपैठियों का पंजीकरण करने का आदेश प्रशासन को देंगे क्या? साकीनाका में घटी अमानवीय घटना के आरोपी को फास्ट ट्रॅक कोर्ट में ले जाकर कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget