क्लीन स्वीप से बचने उतरेगी भारतीय महिला टीम


मैकॉय (आस्ट्रेलिया)

दबाव का सामना कर रही भारत की गेंदबाजों को अाज यहां तीसरे और अंतिम महिला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय में टीम को क्लीन स्वीप से बचाना है, तो आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करना होगा, जो लगातार 27वां मुकाबला जीतने के इरादे से उतरेगी। दूसरे एक दिवसीय में झूलन गोस्वामी की मैच की अंतिम गेंद को विवादास्पद हालात में नोबॉल दिया गया और भारत को हार का सामना करना पड़ा। मैच काफी करीबी रहा लेकिन मिताली राज की टीम का 274 रन के बड़े स्कोर का बचाव नहीं कर पाना निराशाजनक रहा। राशेल हेन्स की गैरमौजूदगी में ताहलिया मैकग्रा और निकोला कैरी के साथ पारी का आगाज करने वाली बेथ मूनी ने शानदार प्रदर्शन किया है। इस साल झूलन गोस्वामी के अलावा भारत की अन्य सभी गेंदबाजों ने निराश किया है। अमिता शर्मा के एक दशक पहले जाने के बाद भी झूलन के लिए नई गेंद का कोई विश्वसनीय साझेदार नहीं मिल पाया है। शिखा पांडे ने प्रभावित किया, लेकिन वह कभी झूलन की नियमित साझेदार नहीं बन पाई। मानसी जोशी, पूजा वस्त्रकार, मोनिका पटेल भी उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी। निरंजना नागराजन की अनदेखी की गई, जबकि मेघना सिंह को अभी और समय की जरूरत है।

स्पिन विभाग भारत का मजबूत पक्ष है, लेकिन मजबूत टीमों ने पूनम यादव की लेग स्पिन का तोड़ निकाल लिया है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget