अस्पताल ही मंदिर है और डॉक्टर देवता : उद्धव ठाकरे

नायर अस्पताल के 100 वर्ष पूर्ण होने पर 100 करोड़ का तोहफा

uddhav thackeray

मुंबई 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना काल में अस्पताल ही मंदिर हैं और डॉक्टर ही देवता के रूप में अस्पतालों में लोगों को जीवनदान दे रहे हैं, उन्होंने नायर अस्पताल को 100 वर्ष पूरा होने पर 100 करोड़ रुपए का फंड दिए जाने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ठाकरे ने शनिवार को मुंबई के नायर अस्पताल में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि 100 साल पहले जब नायर अस्पताल की स्थापना की गई थी, उस समय लोग महामारी जनित रोग से पीड़ित थे और अब सौ साल बाद लोग कोरोना से पीड़ित हैं। इस अस्पताल ने उस समय भी लोगों की सेवा की और इस समय भी कोरोना संक्रमितों की सेवा में लगा हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले 100 वर्षों में यह अस्पताल इसी तरह सेवा में लगा रहे, इसके लिए अस्पताल को 100 करोड़ रुपए का फंड दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के समय लोग अपने संक्रमित रिश्तेदारों से भी बचने का प्रयास कर रहे थे, जबकि डॉक्टर अस्पतालों में अपने परिवार को छोड़कर इन संक्रमितों की सेवा में लगे रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग मंदिर खोलने की बात कर रहे हैं, जबकि कोरोना में मंदिर बंद हो गए थे और मंदिरों की जगह अस्पतालों ने ले ली है।

 इस अवसर पर पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे, बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की महापौर किशोरी पेडणेकर, निगम के आयुक्त इकबाल चहल, नायर अस्पताल के प्रमुख डॉ. रमेश भारमल समेत कई प्रमुख लोग उपस्थित थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget