नए भारत का नया संकल्प

पीएम मोदी का शिक्षा मंत्र

modi

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षक पर्व 2021 के उद्घाटन सम्मेलन के दौरान शिक्षा क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण पहल की शुरुआत की। इस दौरान पीएम ने कहा कि मैं सबसे पहले राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले हमारे शिक्षकों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं। आप सभी ने कठिन समय में देश में शिक्षा के लिए विद्यार्थियों के भविष्य के लिए जो योगदान दिया है, वो अतुलनीय है, सराहनीय है।

पीएम के संबोधन की मुख्य बातें

  • शिक्षक पर्व के अवसर पर अनेक नई योजनाओं का प्रारंभ हुआ है। 
  • ये पहल इसलिए भी अहम है क्योंकि देश अभी आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। 
  • आज़ादी के 100 वर्ष होने पर भारत कैसा होगा, इसके लिए नए संकल्प ले रहा है।
  • विद्यांजली 2.0, निष्ठा 3.0, टॉकिंग बुक्स और यूएलडी बेस आईएसएल डिक्शनरी जैसे नए कार्यक्रम और व्यवस्थाएं लांच की गई हैं।
  •  मुझे पूरा भरोसा है कि यह हमारे शिक्षा व्यवस्था को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाएगी।

सभी शिक्षक प्रशंसा के पात्र

  • अब समय है कि हम अपनी क्षमताओं को आगे बढ़ाएं। 
  • हमने कोरोना काल के मुश्किल समय में जो कुछ सीखा है उसे एक नई दिशा दें। 
  • आज एक ओर देश के पास बदलाव का वातावरण है तो साथ ही नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति जैसी आधुनिक पॉलिसी भी है।
  • EP के फार्मूलेशन से लेकर कार्यान्वयन तक हर स्तर पर शिक्षाविदों, विशेषज्ञों, शिक्षकों का योगदान रहा है।
  • अब हमें इस भागीदारी को एक नए स्तर तक लेकर जाना है, हमें इसमें समाज को भी जोड़ना है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget