एक घटना के लिए पूरे समाज को निशाना बनाना ठीक नहींः पाटिल

chandrakant patil

मुंबई

साकीनाका घटना के संबंध में परप्रांतीय को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा दिए गए आदेश पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने सीएम ठाकरे को आड़े हाथों लेते हुए निशाना साधा है। मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए पाटिल ने कहा कि किसी विषय को लेकर एक समाज को निशाना बनाना ठीक नहीं है। हाल ही में साकीनाका  में घटी घटना की कड़क निंदा करते हुए पाटील ने कहा कि दूसरे राज्य से आए लोग ही अपराध करते हैं, ऐसा नहीं है। सरकार को इस पर विचार करना चाहिए। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमें नहीं लगता कि इस तरह से किसी समाज को निशाना बनाने का कोई मतलब है। 

उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए सभी राजनितिक दलों को सदन में शक्ति कानून का समर्थन करना चाहिए।  पिछले कई महीनों से राज्य में महिलाओं पर अत्याचार की संख्या लगातार बढ़ रही है, जिसे देखते हुए राज्य की महिला आयोग अध्यक्ष की मांग का भी मामला सामने आया है। सरकार को इस मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल महिला आयोग की नियुक्ति करनी चाहिए। सीएम पर तंज कसते हुए पाटील ने कहा कि राज्य के मुखिया मंत्रालय में नहीं बल्कि अपने निवास स्थान में बैठकर फैसले लेते हैं और लोगों पर पाबंदियां लगाते हैं,लेकिन उन्हें लोगों की मानसिकता को समझने की जरूरत है। भारतीय समाज उत्सवमय है। इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंध चाहिए। कोरोना महामारी के कारण  पिछले डेढ़ साल से घरों में बंद जनता पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। 

बच्चों को अधिक समय तक स्कूल से दूर रखने से उन पर मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ेगा। अगर सरकार प्रतिबंध लगाना जारी रखती है, तो इससे असंतोष पैदा होगा। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget