गोरेगांव म्हाडा कॉलोनी के आएंगे अच्छे दिन

कैबिनेट बैठक में लिया गया अहम निर्णय


मुंबई 

बुधवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में गोरेगांव के मोतीलाल नगर स्थित म्हाडा कॉलोनी का पुनर्विकास विशेष मामले के रूप में करने को मंजूरी प्रदान की गई। मोतीलाल नगर 1,2 और 3 में तकरीबन 50 हेक्टेयर जमीन पर अनुमानित 3700 गाले और 1600 झोपड़पट्टी है। मोतीलाल नगर के कुल क्षेत्रफल को ध्यान में रखते हुए गालों की घनता 106 गाले प्रति हेक्टेयर है। यह घनता बीएमसी विकास नियंत्रण व प्रोत्साहन नियमावली 2034 के विनियम 30 (बी) के अनुसार 450 गाले प्रति हेक्टेयर की तुलना में काफी कम है। इस वजह से यहां पुनर्विकास में पर्याप्त जगह उपलब्ध होगी। मोतीलाल नगर कॉलोनी के पुनर्विकास होने पर पुनर्वास घटकों के अतिरिक्त 33 हजार गाले आम लोगों के लिए उपलब्ध हो सकते हैं। इस वजह से इसे विशेष परियोजना का दर्जा दिया गया है।

महानिर्मिती स्थापित करेगी सौर ऊर्जा परियोजनाएं

कैबिनेट ने महानिर्मिती को राज्य में विभिन्न स्थानों पर सौर ऊर्जा परियोजनाएं स्थापित करने को मंजूरी प्रदान की। साथ ही महानिर्मिती को शेयर कैपिटल उपलब्ध कराने को मंजूरी दी गई। कैबिनेट ने 187 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं के साथ-साथ 390 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए दो अलग-अलग प्रस्तावों को मंजूरी दी। जिला उस्मानाबाद के मौजे कौडगांव में 50 मेगावॉट क्षमता, लातूर जिले के मौजे सिंदाला में 60 मेगावॉट तथा भुसावल थर्मल पॉवर प्रोजेक्ट की उपयोग में नहीं आने वाली जगह पर 20 मेगावॉट, परली में 12, कोरडी में 12, नाशिक में 8 मेगावॉट को मिलाकर कुल 52 मेगावॉट क्षमता तथा मौजे शिवाजीनगर, साक्री जिला धुले में 25 मेगावॉट क्षमता के सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट लगाए जाएंगे। इस तरह कुल 187 मेगावॉट क्षमता की ऊर्जा परियोजनाएं स्थापित की जाएगी।  इसी तरह 390 मेगावॉट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजनाएं वाशिम, चंद्रपुर,यवतताल जिले में स्थापित की जाएगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget