राज्य में बारिश से हाहाकार

मराठवाड़ा में गई 10 लोगों की जान । मवेशी बहे, कई घर डूबे


मुंबई 

महाराष्ट्र में भारी बारिश ने कहर बरपा रखा है। राज्य के अलग-अलग इलाकों में जगह-जगह तबाही मची है, कई लोगों की जान भी चली गई। सूबे के मराठवाड़ा क्षेत्र में पिछले 48 घंटों में भारी बारिश और बाढ़ में दस लोगों की मौत हो गई। वहीं कई लोगों के घर बह गए हैं।

अधिकारियों ने मंगलवार को जानकारी दी कि मराठवाड़ा क्षेत्र में 10 लोगों की मौत की खबर है। इसके अलावा, 200 से अधिक मवेशी बह गए और इस क्षेत्र में बारिश के प्रकोप में कई घर भी क्षतिग्रस्त हो गए। इन में औरंगाबाद, लातूर, उस्मानाबाद, परभणी, नांदेड़, बीड, जालना और हिंगोली जिले शामिल हैं।

बीड में तीन, उस्मानाबाद और परभणी में दो-दो लोगों की गई जान

आधिकारिक बयान में कहा गया कि पिछले 48 घंटों में, क्षेत्र के छह जिलों से 10 लोगों की मौत हुई है, जिनमें बीड में तीन, उस्मानाबाद और परभणी में दो-दो और जालना, नांदेड़ और लातूर में एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। चक्रवाती तूफान गुलाब के चलते खासकर मराठवाडा और उत्तर महाराष्ट्र में मूसलाधार बरसात हो रही है। चक्रवाती तूफान गुलाब की वजह से कम दाब का क्षेत्र तैयार हो गया है। इसका प्रभाव अगले 48 घंटे तक राज्य के कई इलाकों में दिखाई पड़ेगा।

पांच जिलों में रेड और 12 जिलों में यलो अलर्ट जारी

वहीं मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के पांच जिलों- पालघर, नासिक, जलगांव औरंगाबाद और जालना के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। जबकि 12 जिलों- बुलढाणा, अकोला, अमरावती, वाशिम, यवतमाल, वर्धा, नागपुर, चंद्रपुर, सोलापुर, सांगली, कोल्हापुर, सिंधुदुर्ग- में यलो अलर्ट जारी किया गया है। इनके अलावा बाकी जिलों जैसे- मुंबई, रायगढ़, ठाणे, रत्नागिरि, पुणे, सातारा, अहमदनगर, बीड, उस्मानाबाद, लातूर, परभणी, हिंगोली, नांदेड़, लातूर, धुले, नंदुरबार- में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

गुलाब’ के बाद ‘शाहीन’ बरपाएगा कहर

चक्रवाती तूफ़ान ‘गुलाब’ का कहर अभी थमा भी नहीं है कि एक नए चक्रवाती तूफान ‘शाहीन’ की आशंका ने लोगों के दिलों में दहशत पैदा कर दी है। यह तूफान खास तौर से महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए चिंता का सबब बन रहा है। इसकी वजह यह है कि ‘शाहीन’ नाम का चक्रवाती तूफान अरब सागर में तैयार होने वाला है और यह महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्री किनारे वाले इलाकों में अपना असर दिखाएगा। 

पानी का जलस्तर बढ़ने के बाद खोले गए बांध के 18 गेट

वहीं महाराष्ट्र में मंजारा बांध से सटे इलाकों में भारी बारिश के कारण जलस्तर बढ़ने के बाद अधिकारियों ने पानी की निकासी के लिए बांध के सभी 18 गेट खोल दिए ,जिससे बीड जिले के कुछ गांवों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है, वहीं आस पास के कुछ जिलों में अलर्ट जारी किया गया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget