मुंबई की गलियों की होगी थ्री-डी मैपिंग

वर्ली में प्रायोगिक तौर पर शुरू हुआ काम


मुंबई

मनपा ने वर्ली में प्रायोगिक तौर पर पहली थ्री-डी (3-D) मैपिंग परियोजना शुरु की है। मुंबई में इस तरह की यह पहली परियोजना है। इस परियोजना के सफल होने के बाद इसे पूरे मुंबई में शुरू किया जाएगा। अब मुंबई भी थ्री-डी मैपिंग वाले वैश्विक शहरों की सूची में शामिल हो जाएगा। अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करके वर्ली की एक-एक गलियों का सटीक

त्रि-आयामी नक्शा बनाया जा रहा है। इसके लागू होने से जनता के साथ प्रशासन की विभिन्न परियोजनाओं के क्रियान्वयन में बहुमूल्य योगदान मिलेगा। 

उल्लेखनीय है कि जनसंख्या वृद्धि और भौगोलिक विस्तार से मनपा प्रशासन पर दबाव बढ़ रहा है। नई चुनौतियों के बीच काम करना बहुत चुनौतीपूर्ण हो गया है। इन चुनौतियों का सामना करने के लिए मनपा ने नवीनतम तकनीक का उपयोग कर क्रांतिकारी कदम उठाया है। मनपा का जी/साउथ विभाग शिवसेना युवा नेता आदित्य ठाकरे का विधानसभा क्षेत्र है, जहां लगभग 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र का त्रि-आयामी नक्शा तैयार किया गया है। जेनेसिस इंटरनेशनल कॉरपोरेशन लि. के सहयोग से थ्री डी मैपिंग किया गया है। मनपा की अतिरिक्त आयुक्त अश्विनी भिड़े ने कहा कि आधुनिक तकनीक की मदद से प्रशासन को गति देने में मदद मिलती है। मनपा जीआईएस, एसएपी, रोबोट, ड्रोन जैसी नवीनतम तकनीक को पहले ही अपना चुका है। इसमें थ्री डी मैपिंग जोड़ी गई है। जी-दक्षिण विभाग के सहायक आयुक्त शरद उघडे ने कहा कि आधुनिक समय में केवल कागजी नक्शों को देखकर प्रशासन करना पहले की अपेक्षा कठिन है।

डिजिटल तकनीक और आधुनिक उपकरणों से बनाए गए मानचित्रों को प्रशासित करते समय हमारे काम करने के तरीके को मौलिक रूप से बदल देते हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget