आज से पांचवां और अंतिम टेस्ट

भारत को सीरीज जीतने में बारिश कर सकती है मदद


मैनचेस्टर

इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें और आखिरी टेस्ट से पहले मौसम विभाग ने पहले दो दिन बारिश की चेतावनी दी है जो सीरीज में 2-1 से चल रही भारतीय टीम के लिए खुशी की बात है। भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच आज से मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेला जाएगा। विराट कोहली अगर सीरीज जीत लेते हैं तो आस्ट्रेलिया (2018-19) और इंग्लैंड (2021) में टेस्ट सीरीज जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान बन जाएंगे। सीरीज में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने की दहलीज पर खड़ी भारतीय क्रिकेट टीम जसप्रीत बुमराह के वर्कलोड और अजिंक्य रहाणे के फॉर्म को लेकर चिंतित होगी, जिनके पास अपना इंटरनेशनल करियर बचाने का शायद यह आखिरी मौका होगा। वैसे पिछले चार टेस्ट की तरह भारतीय टीम का चयन चर्चा का विषय होगा। बुमराह पिछले एक महीने में 151 ओवर डाल चुके हैं जिसमें ओवल टेस्ट पर चौथे और पांचवें दिन के 22 ओवर शामिल हैं। भारत ने वह टेस्ट 157 रन से जीता। टीम मैनेजमेंट यह भी सोच रहा होगा कि रहाणे को टीम में रखा जाए या नहीं जो ओवल पर बल्लेबाजों की मददगार पिच पर दोनों पारियों में नाकाम रहे। सात पारियों में से छह में नाकामी से रहाणे का आत्मविश्वास हिल गया होगा। यह सीरीज का आखिरी टेस्ट है और कोहली उन्हें एक मौका और दे सकते हैं। इसमें नाकाम रहने पर उनका अंतरराष्ट्रीय कैरियर लगभग खत्म ही हो जाएंगे, क्योंकि वह 33 साल के हो भी चुके हैं। उन्हें मौका नहीं मिलता है तो सूर्यकुमार यादव या हनुमा विहारी को उतारा जा सकता है ताकि जेम्स एंडरसन के बिना उतर रहे इंग्लैंड के गेंदबाजों पर दबाव बनाया जा सके। 

भारतीय टीम के लिये खासकर बुमराह के लिए कार्यभार प्रबंधन चिंता का सबब है। पिछले मैच में ओली पोप और जॉनी बेयरस्टॉ को जिस तरह उन्होंने रिवर्स स्विंग से परेशान किया, उनके नहीं खेलने की सोचकर भी इंग्लैंड के बल्लेबाजों की बांछें खिल गई होंगी। 

मोहम्मद शमी के फिट होने के साथ उनका प्लेइंग इलेवन में रहना तय है। लेकिन मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरूण की गैर मौजूदगी में कप्तान कोहली का फैसला अहम होगा। कोरोना संक्रमण के कारण शास्त्री और अरूण पृथकवास में हैं। गेंदबाजों की मददगार परिस्थितियों में बुमराह को बाहर रखने का फैसला समझदारी नहीं होगा लेकिन छह सप्ताह बाद टी20 विश्व कप होना है और भारतीय टीम कोई जोखिम नहीं लेना चाहेगी। पिछले मैच में प्रभावी प्रदर्शन करने वाले उमेश यादव (छह विकेट) और हरफनमौला शार्दुल ठाकुर (तीन विकेट और 117 रन) का खेलना तय लग रहा है। बुमराह को आराम देने पर मोहम्मद सिराज को उतारा जा सकता है।रविचंद्रन अश्विन पर रविंद्र जडेजा को तरजीह देने का कोहली का फैसला पूरी तरह तो नहीं लेकिन आंशिक रूप से सही साबित हुआ है। वैसे शार्दुल ने बल्ले से जिस तरह का शानदार प्रदर्शन कियाा है, उसके बाद गेंदबाज हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर अब जडेजा की जरूरत उतनी नहीं लग रही लिहाजा अश्विन को मौका मिल सकता है। चेतेश्वर पुजारा की अभ्यास सत्र के दौरान फील्डिंग की तस्वीरें देखकर उनके प्रशंसकों ने राहत की सांस ली होगी। 

दूसरी ओर इंग्लैंड के लिए कप्तान जो रूट पर सारा दारोमदार होगा। वह बड़ी पारी खेलकर सीरीज में 600 रन का आंकड़ा पार करना चाहेंगे। रूट को उपकप्तान जोस बटलर का साथ मिलेगा जो बेयरस्टॅा की जगह खेल सकते हैं। वहीं गेंदबाजी में मार्क वुड और क्रिस वोक्स नई गेंद संभालेंगे। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget