लुकआउट नोटिस को अदालत में देंगे चुनौती: ​नितेश राणे

nitesh rane

मुंबई

गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की पत्नी नीलम राणे और विधायक बेटे नितेश राणे के खिलाफ पुणे क्राइम ब्रांच द्वारा लुकआउट नोटिस जारी किया गया। विधायक नितेश राणे ने ठाकरे सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सर्कुलर पुणे पुलिस की ओर से जारी किया गया है। हमारा डीएचएफएल ब्रांच मुंबई में है, पुणे क्राइम ब्रांच को यह अधिकार कैसे दिया गया कि वह कोई नोटिस जारी करे। कर्ज सेटलमेंट करने के लिए पांच महीने पहले हमने बैंक को एक आधिकारिक पत्र दिया है, जिसमें हमने ऋण का निपटारा करने की बात कही है। इसलिए इस तरह के नोटिस का कोई मतलब नहीं है। इस मामले में हम हाईकोर्ट जाएंगे और इसे चुनौती देंगे। अब यह राणे के परिवार की समस्या नहीं है, अब यह अपराध शाखा की समस्या होगी, यह महाविकास आघाड़ी की समस्या होगी। 

नितेश राणे ने आगे कहा कि ठाकरे सरकार जवाब दे कि लुकआउट नोटिस किसके कहने पर पुलिस ने जारी किया। महाविकास आघाड़ी सरकार को घेरते हुए राणे ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के  जनआशीर्वाद से घबराई राज्य सरकार की नींद उड़ गई है इसलिए विपक्षी दल के नेताओं को परेशान करने के लिए ऐसे नोटिस जारी करवा रही है। अब ठाकरे सरकार के भ्रष्टाचार के सारे मुद्दे सामने आने वाले हैं। आने वाले दिनों में पता चल जाएगा कि हमारी मुश्किलें बढ़ेंगी या ठाकरे सरकार की। हम बरसों से टैक्स देकर ईमानदारी के साथ व्यवसाय करके, राजनीति करते आ रहे हैं। हम इस तरह काला कारोबार नहीं करते हैं।

क्या है पूरा मामला 

राणे परिवार की आर्टलाइन प्रॉपर्टी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने डीएचएफएल फाइनेंसियल कंपनी से 40 करोड़ रुपए का कर्ज लिया था। इसमें आर्टलाइन प्रापर्टी ने डीएचएफएल को 15 करोड़ रुपए वापस किया है जबकि 25 करोड़ रुपए वापस नहीं करने पर डीएचएफएल कंपनी ने नितेश राणे और नीलम राणे के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी। इसी के तहत पुणे क्राइम ब्रांच ने राणे परिवार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है. लुकआउट सर्कुलर में उनके आने-जाने की सूचना पुणे पुलिस को देने को कहा गया है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget