पंजाब कैबिनेट के नए मंत्रियों की लिस्ट फाइनल


जालंधर

पंजाब कैबिनेट के नए मंत्रियों की लिस्ट फाइनल हो गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी 5 मंत्रियों की छुट्टी कर दी गई है। इसके अलावा 8 मंत्री वापसी कर गए हैं। वहीं नई कैबिनेट में 7 नए मंत्री शामिल किए जाएंगे। मंत्रियों की लिस्ट फाइनल करने के बाद राहुल गांधी वापस शिमला पहुंच गए हैं। वे बैठक करने वहीं से दिल्ली आए थे। मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी भी पंजाब लौटे, जिसके बाद उन्होंने गवर्नर बीएल पुरोहित से मुलाकात की। बाहर आकर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यानी रविवार शाम काे 4.30 बजे सभी मंत्रियों का शपथग्रहण होगा। इससे पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और डिप्टी CM के तौर पर सुखजिंदर रंधावा और ओपी सोनी शपथ ले चुके हैं।

कैप्टन की कैबिनेट से साधु सिंह धर्मसोत, बलवीर सिद्धू, राणा गुरमीत सोढ़ी, गुरप्रीत कांगड़ और सुंदर शाम अरोड़ा को नई कैबिनेट में जगह नहीं मिली है। इनमें साधु सिंह धर्मसोत पर पोस्टमैट्रिक घोटाले के आरोप लगे थे। राणा सोढ़ी ने सिद्धू खेमे की बगावत के बाद कैप्टन के शक्ति प्रदर्शन के लिए डिनर करवाया था। कांगड़ पर हाल ही में दामाद को सरकारी नौकरी दिलवाने के बाद हमले हो रहे थे। उनके लिए सुनील जाखड़ ने भी लॉबिंग की थी, लेकिन काम नहीं आई। सुंदर शाम अरोड़ा भी कैप्टन के करीबी हैं और उन पर भी कुछ वक्त पहले जमीन से जुड़े कुछ आरोप लगे थे। पंजाब मंत्रिमंडल में मनप्रीत बादल, विजयेंद्र सिंगला, रजिया सुल्ताना, ब्रह्म मोहिंदरा, अरुणा चौधरी, भारत भूषण आशु, तृप्त राजिंदर बाजवा और सुख सरकारिया की वापसी हो रही है। 

मनप्रीत बादल ने चन्नी के नाम पर कांग्रेस हाईकमान को राजी करने में अहम भूमिका निभाई थी। विजयेंद्र सिंगला के शिक्षा मंत्री रहने के समय ही पंजाब स्कूलों में नंबर वन आया था। रजिया सुल्ताना सिद्धू के रणनीतिक सलाहकार मुहम्मद मुस्तफा की पत्नी हैं। अरुणा चौधरी को भी हटाने की तैयारी थी लेकिन CM चन्नी के साथ रिश्तेदारी की वजह से उनकी वापसी हो गई। भारत भूषण आशु कैप्टन के ज्यादा करीब नहीं थे बल्कि राहुल गांधी के साथ उनके अच्छे संबंध हैं। तृप्त राजिंदर बाजवा और सुख सरकारिया कैप्टन के खिलाफ बगावत करने वाले ग्रुप में शामिल थे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget