कंगना को अदालत पर ’भरोसा’ नहीं

kangna ranaut

मुंबई

अभिनेत्री कंगना रनौत गीतकार जावेद अख्तर द्वारा उनके खिलाफ दायर आपराधिक मानहानि शिकायत के संबंध में सोमवार को मुंबई की एक अदालत में पेश हुईं। अदाकारा ने कहा कि उनका मजिस्ट्रेट की अदालत पर ‘‘भरोसा’’ नहीं रहा, क्योंकि अदालत ने जमानती अपराध के मामले में पेश नहीं होने पर उनके खिलाफ वारंट जारी करने की परोक्ष रूप से ‘‘धमकी’’ दी। रनौत ने अख्तर की शिकायत के जवाब में उनके खिलाफ ‘‘जबरन वसूली और आपराधिक धमकी’’ का आरोप लगाते हुए याचिका भी दायर की। उनके वकील ने अदालत को सूचित किया कि उन्होंने मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष एक अर्जी दी है, जिसमें शिकायत की सुनवाई किसी अन्य अदालत में स्थानांतरित करने का अनुरोध किया गया है। अभिनेत्री ने अपनी शिकायत में कहा है कि एक साथी अभिनेता के साथ उनके सार्वजनिक विवाद के बाद अख्तर ने उन्हें और उनकी बहन रंगोली चंदेल को ‘‘दुर्भावनापूर्ण और गलत इरादों से अपने घर बुलाया और फिर उन्हें धमकाया।’’ शिकायत के अनुसार, अख्तर ने रनौत को अपने सह कलाकार से लिखित में माफी मांगने के लिए मजबूर किया। रनौत ने आरोप लगाया कि अख्तर ने उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी और कहा था कि वह अपने सह कलाकार, जो एक शक्तिशाली पृष्ठभूमि और परिवार से आता है, के साथ इस तरह की सार्वजनिक लड़ाई में शामिल होकर अपना ही जीवन नर्क बना लेंगी।’’ शिकायत में कहा गया है, ‘‘आरोपी (अख्तर) ने कहा था, अगर आप ऋतिक रोशन से सॉरी नहीं कहती हैं, तो आपको आत्महत्या करनी होगी, क्योंकि वे आपको जेल में डाल देंगे। उन्हें सभी सुराग और सबूत मिल गए हैं और वे जानते हैं कि मामला पूरी तरह से उनके हाथ में है।’’ अदालत ने पिछले हफ्ते कहा था कि अगर अदाकारा सुनवाई की अगली तारीख 20 सितंबर को पर पेश नहीं होती हैं तो अदालत रनौत के खिलाफ वारंट जारी करेगी। इस साल फरवरी में समन जारी होने के बाद से रनौत पहली बार सोमवार को अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट आर आर खान के सामने पेश हुईं और जमानत की औपचारिकताएं पूरी कीं। जैसे ही मामला अदालत के समक्ष सुनवाई के लिए आया अदाकारा के वकील रिजवान सिद्दीकी ने बताया कि रनौत इस अदालत (शिकायत के संबंध में) के साथ आगे नहीं बढ़ना चाहती हैं। सिद्दीकी ने कहा कि उनका ‘‘इस अदालत में विश्वास नहीं रहा क्योंकि प्रतीत होता है कि अदालत मामले में पक्षपाती रवैया अपना रही है।’’ वकील ने दावा किया कि अदालत ने अप्रत्यक्ष रूप से अभिनेत्री को गैर-संज्ञेय, क्षमा योग्य अपराध और जमानती अपराध के मामले में दो मौकों पर वारंट जारी करने की ‘‘धमकी’’ दी है, जहां कानून के अनुसार नियमित उपस्थिति की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि रनौत को बिना किसी वजह या कारण के अदालत में बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि आज तक ऐसा कोई आदेश नहीं आया है जिसमें यह बताया गया हो कि आखिर अभिनेत्री को जमानती, गैर-संज्ञेय और क्षमा योग्य अपराध के लिए नियमित रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता क्यों है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget