जम्मू-कश्मीर पर्यटन विभाग आयोजित करेगा कार्यक्रम


मुंबई

आगामी छह महीनों में जम्मू और कश्मीर में पड़ने वाले विभिन्न त्योहारों को देखते हुए पर्यटन विभाग ने अलग-अलग  स्थानों पर कार्यक्रम का आयोजन किया है। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इसका आयोजन किया जा रहा है. बुधवार को यशवंत राव चव्हाण सभागृह में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर पर्यटन विभाग के निदेशक डॉ. जी. एन. इटू और जम्मू पर्यटन विभाग के निदेशक विवेकानंद ने कहा कि कार्यक्रम में शामिल होने वाले पर्यटन विभाग से संबंधित लोगों का 95 प्रतिशत जबकि विभाग के कर्मचारियों का 100 प्रतिशत टीकाकरण किया जा चुका है। उन्होंने पर्यटकों से आव्हान करते हुए कहा कि पर्यटकों को जम्मू-कश्मीर आना चाहिए, जम्मू-कश्मीर पर्टयन विभाग के साथ-साथ वहां के लोग भी पर्यटकों के स्वागत के लिए उत्सुक हैं. कश्मीर पर्यटन विभाग के संचालक ने इटू ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और महाराष्ट्र के संबंध बहुत पुराने हैं। महाराष्ट्र के पर्यटकों ने हमेशा जम्मू-कश्मीर को प्राथमिकता दी है। माता वैष्णो देवी, हजरतबल दरगाह, पहलगाम, सोनमर्ग, दाल सरोवर, गुलमर्ग और प्रचुर प्राकृतिक सुंदरता के अन्य स्थानों जैसे धार्मिक पर्यटन स्थलों ने हमेशा पर्यटकों को अपनी खाद्य संस्कृति, हस्तशिल्प, पारंपरिक संगीत और नृत्य से आकर्षित किया है। अब कोरोना के बाद के दौर में यहां पर्यटन फिर से शुरू रहा है. पर्यटकों की सुरक्षा के लिए हर तरह के एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget