सीआईएस देशों के साथ हवाई संपर्क बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा भारत


नई दिल्ली

 नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को कहा कि जैसे-जैसे विश्व कोरोना वायरस जनित महामारी से उबर रहा है, केंद्र सरकार भारत और ‘स्वतंत्र देशों के समूह’ (सीआईएस) के घटक देशों के बीच हवाई संपर्क बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। सीआईएस में जरबैजान, आर्मीनिया, बेलारूस, जॉर्जिया, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, मोल्डोवा, रूस, ताजीकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, उज्बेकिस्तान और यूक्रेन शामिल है। सिंधिया ने भारतीय वाणिज्य और उद्योग महासंघ (फिक्की) की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि मुझे लगता है कि भारत और सीआईएस देशों के बीच संबंधों के विकास के लिए यह सही समय है। मुझे लगता है कि भारत सहयोग, निवेश और निर्माण करने के लिए तैयार है। हम भूमि और हवा दोनों में अपने संबंध मजबूत करने की प्रतीक्षा में हैं। सिंधिया ने कहा कि दिल्ली और सीआईएस के ज्यादातर देशों के बीच उड़ान में लगने वाला समय दिल्ली और भारत में किसी राज्य के बीच लगने वाले समय से कई गुना कम है। उदाहरण के लिए दिल्ली और बिश्केक के बीच हवाई यात्रा में दो घंटे लगते हैं तथा दिल्ली और दुशांबे के बीच ढाई घंटे का समय लगता है। उन्होंने कहा कि कई तरह से आप हमारे बहुत अधिक करीब हैं। हमें इसका लाभ लेना चाहिए। सिंधिया ने कहा कि महामारी के दौरान भी सीआईएस के ज्यादातर देशों के साथ भारत ने वायु सेवा समझौता किया था। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget