शार्दुल ने अकेले दम पर पलटा मैच का रुख


लंदन

भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट में दमदार जीत हासिल कर सीरीज में 2-1 की बढ़त बनाई। पांच मैचों की सीरीज के चौथे मुकाबले में पहली पारी में 99 रन से पिछड़ने के बाद भी टीम इंडिया ने 157 रन से जीत हासिल की। इस मैच में भारतीय टीम के एक खिलाड़ी का प्रदर्शन सबसे उम्दा रहा। बल्लेबाजी और गेंदबाजी से शार्दुल ठाकुर ने ऐसा खेल दिखाया, जिसने मैच का रुख पलट दिया। भारतीय टीम ने ओवल टेस्ट में टास हारकर पहली पारी में बल्लेबाजी करते हुए 191 रन बनाए थे। जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 290 रन बनाकर 99 रन की बढ़त हासिल की। टीम इंडिया ने ओपनर रोहित शर्मा के दमदार शतक के दम पर दूसरी पारी में 466 रन बनाकर मेजबान को 368 रन का लक्ष्य दिया। दूसरी पारी में आखिरी दिन इंग्लैंड की टीम 210 रन ही बना पाई और टीम इंडिया ने जीत के साथ सीरीज में बढ़त बनाई।

पहली पारी में शार्दुल ने भारतीय टीम के टाप आर्डर बल्लेबाजों के फ्लाप होने के बाद 36 गेंद पर 57 रन की आतिशी पारी खेली। 7 चौके और 3 छक्के की मदद से खेली गई इस पारी ने भारतीय टीम के 191 रन के स्कोर तक पहुंचाया। दूसरी पारी में उन्होंने एक बार फिर से बल्ले का दम दिखाया और 72 गेंद पर 7 चौके और 1 छक्के की मदद से 60 रन बनाए। शार्दुल ने दोनों ही पारी में जब भारत को विकेट की जरूरत थी तभी ऐसा किया। पहली पारी में अर्धशतक जमाकर भारत के लिए मुश्किल बन रहे ओली पोप को बोल्ड किया। इस विकेट के गिरने की वजह से ही इंग्लैंड की पारी बिखरी। दूसरी पारी में उन्होंने भारत को पांचवें दिन सबसे पहली विकेट दिलाई। 50 रन बना चुके रोरी बर्न्स को आउट कर शर्दुल ने इंग्लैंड के पहले विकेट की 100 विकेट की साझेदारी को तोड़ा। दूसरा विकेट उन्होंने भारत के खिलाफ सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इंग्लिश कप्तान जो रूट का हासिल किया। इस विकेट ने मैच को भारत की तरफ मोड़ दिया।

फील्डर ने नहीं दिया साथ तो जडेजा ने हसीब को किया क्लीन बोल्ड 

दूसरे सेशन में रविंद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह की धारदार गेंदबाजी के आगे इंग्लिश बेदम नजर आए और  अंग्रेजों के पतन की शुरुआत रविंद्र जडेजा ने हसीब हमीद के बड़े विकेट से की। जड्डू की घूमती गेंद पर हमीद चकमा खा गए और क्लीन बोल्ड होकर पैवेलियन लौटे। इससे पहले जडेजा ने इंग्लिश ओपनर को आउट करने का चांस बनाया था, लेकिन तब मोहम्मद सिराज ने कैच टपका दिया था। हसीब हमीद का विकेट कई मायनों में खास था,क्योंकि वह इंग्लैंड की पारी को बांधे हुए थे और बाकी बल्लेबाजों को साथ लेकर चल रहे थे। इंग्लैंड 141 रन के स्कोर पर महज 2 विकेट खोकर मजबूत स्थिति में दिखाई दे रही थी और हमीद और रूट दोनों क्रीज पर सेट नजर आ रहे थे। कप्तान कोहली ने पांचवें दिन की पिच को देखते हुए गेंद जडेजा के हाथों में बड़ी उम्मीद के साथ थमाई और टीम इंडिया का यह ऑलराउंडर कैप्टन की उम्मीदों पर एकदम खरा उतरा। जडेजा ने अपने ओवर की तीसरी गेंद को देखकर हमीद का सिर चकरा गया और वह पूरी तरह गच्चा खा गए। विकेट लेने के बाद जड्डू अपने स्टाइल में सेलिब्रेशन भी मनाते दिखे।

बुमराह ने कपिल को पछाड़ा

भारत के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने इंग्लैंड के खिलाफ लंदन के केनिंग्टन ओवल में खेले गए चौथे टेस्ट में अपने टेस्ट विकेटों की संख्या 100 पहुंचा दी है। उन्होंने यह कारनामा इंग्लैंड के बल्लेबाज ओली पोप को क्लीन बोल्ड आउट कर हासिल की। खास बात यह है कि इस विकेट के साथ ही बुमराह अब सबसे तेज 100 टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय फास्ट बॉलर बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने महान कपिल देव का रिकॉर्ड तोड़ा है। कपिल अपने करियर के 25वें टेस्ट मैच में 100 विकेट के आंकड़े तक पहुंचे थे, जबकि बुमराह ने यह कारनामा 24वें मैच में ही कर दिया है। भारतीय तेज गेंदबाजों में जिन अन्य बॉलरों ने सबसे तेज 100 विकेट झटके हैं, उसमें इरफान पठान, मोहम्मद शमी, जवागल श्रीनाथ और ईशांत शर्मा का नाम शामिल है। पठान ने यह कारनामा 28, शमी ने 29, श्रीनाथ ने 30 जबकि ईशांत ने 33 मैचों में किया था। भारत के लिए सबसे तेज 100 विकेट लेने का रिकॉर्ड स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के नाम है।  जिन्होंने सिर्फ 18 टेस्ट मैच में यह मुकाम हासिल किया था।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget