तत्‍काल हड़ताल समाप्त करें सफाई कर्मचारी

पटना

सफाई कर्मियों द्वारा चल रही हड़ताल को लेकर पटना हाईकोर्ट में सुनवाई हुई, इसमें पटना हाईकोर्ट ने नगर निगम के सफाई कर्मियों को तत्काल हड़ताल समाप्त करने को कहा है। साथ ही इस मामले को लकेर हाईकोर्ट ने सरकार को भी नोटिस देकर जवाब मांगा है। कोर्ट ने बिहार सरकार से कहा है कि निगम कर्मियों की मांगों पर विचार कर आठ सप्ताह में लिखित जवाब दें। यह सुनवाई हाईकोर्ट के चिफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने की है।

बता दें कि अपनी 12 सूत्री मांगों को लेकर सफाईकर्मी पिछले एक सप्ताह से हड़ताल पर थे। इसके चलते शहर में सफाई व्यवस्था चरमरा गयी थी। शहर के कई जगहों पर कचरा का अंबार लगा हुआ था। इससे संक्रमण बीमारियों की फैलने की आशंका भी बढ़ गयी थी। सफाई व्यवस्था को लेकर शहरवासियों में भी आक्रोश बढ़ता जा रहा था। इस बीच हाईकोर्ट में सफाई कर्मियों की हड़ताल को लकेर याचिका दायर की गयी थी। जिस पर सोमवार को ही सुनावई होनी थी, लेकिन नहीं हो सकी। इसके बाद मंगलवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई, जिसमें कोर्ट ने सफाई कर्मियों को तत्काल हड़ताल खत्म करने को कहा है। साथ ही कोर्ट ने बिहार सरकार को भी सफाई कर्मियों की मांग पर विचार करने को कहा है। एडवोकेट जनरल ने पटना नगर निगम के कर्मचारियों के हड़ताल से उत्पन्न गंभीर स्थिति को देखते हुए इस मामले पर सुनवाई करने का कोर्ट से अनुरोध किया था। उन्होंने कहा कि पूरे पटना शहर में निगम कर्मियों के हड़ताल से प्रभाव पड़ा है। अभी कोरोना महामारी का संकट बरकरार हैं। कोर्ट ने निगम कर्मियों को तत्काल हड़ताल खत्म करने का निर्देश दिया। साथ ही राज्य सरकार को कर्मचारीगण की लंबित मांगों पर विचार कर आठ सप्ताह में आदेश पारित करने का निर्देश दिया। निगम कर्मियों के हड़ताल के कारण पूरा पटना कूड़ा के ढ़ेर में तब्दील हो  गया। राजधानी के सभी क्षेत्रों में गंदगी फैली हुई है, जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। एडवोकेट जनरल ललित किशोर ने कहा कि अभी कोरोना का समय चल रहा है। ऐसे समय में इन निगम कर्मियों के हड़ताल से पूरे पटना की सफाई व्यवस्था प्रभावित हुआ है। शहर के हर इलाके में गंदगी फैली हुई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget