‘फिर से लॉकडाउन लगाने पर मजबूर न करें अजित पवार

Ajit pawar

मुंबई 

महाराष्ट्र में कोरोना को लेकर ठाकरे सरकार अब भी लापरवाही नहीं बरतना चाहती। इसके लिए सूबे के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने शुक्रवार को लोगों से कहा कि वे राज्य सरकार के लिए ऐसी स्थिति उत्पन्न न करें, जिसमें कि उसे तीसरी लहर आने की स्थिति में फिर से सबकुछ बंद करना पड़े । डीप्टी सीएम ने ग्रामीण इलाकों में लोगों के सतर्क नहीं रहने पर चिंता जताते हुए यह बात कही। पवार ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि केरल और महाराष्ट्र में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामलों के मद्देनजर केंद्र सभी राज्यों को पहले ही आगाह कर चुका है, उन्होंने कहा, ‘‘दुर्भाग्य की बात है कि ग्रामीण इलाकों में कुछ लोग बेपरवाह हो गए हैं, वे कोरोना वायरस से डर नहीं रहे हैं। वे मास्क नहीं पहनते, सामाकि दूरी का पालन नहीं करते और उन्होंने ऐसा मान लिया है कि वह दौर (कोरोना वायरस का) अब गुजर चुका है। इसी के कारण संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ी है।’’

स्कूलों को खोलने पर CM लेंगे फैसला

उन्होंने अपील की, ‘‘इसे कहीं न कहीं तो रोकना होगा। लोगों को राज्य सरकार और प्रशासन के लिए ऐसी स्थिति पैदा नहीं करनी चाहिए, जिसमें कि यदि तीसरी लहर आती है तो उन्हें सबकुछ बंद करना पड़े।’’स्कूलों को फिर खोले जाने के सवाल पर पवार ने कहा कि विशेषज्ञों से बातचीत चल रही है और इस बारे में निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘इस बारे में दो मत हैं। 

कुछ लोग कहते हैं कि स्कूलों को दिवाली के बाद खोला जाना चाहिए और कुछ कहते हैं कि ऐसे स्थानों पर स्कूल खोले जाने चाहिए जहां संक्रमण दर शून्य है। पवार ने आगे कहा कि इस बारे में मुख्यमंत्री ठाकरे निर्णय लेंगे।’’

चुनाव के चलते मंदिर खोलने की मांग कर रही है भाजपा 

राज्य में मंदिर खोलने की बीजेपी और महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (MNS) की मांग पर पवार ने कहा कि किय चुनाव करीब हैं और ऐसे में हर दल अपनी मौजूदगी का अहसास करवाना चाहता है और यही वजह है कि भावनाओं से जुड़े इस मुद्दे को उठाया जा रहा है। पुणे के संरक्षक मंत्री पवार ने जिले में कोरोना हालात को लेकर एक समीक्षा बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में यह कहा, उन्होंने कहा कि गणेश उत्सव का समय भी करीब आ रहा है और लोगों को बड़े पैमाने पर उत्सव मनाने से बचना चाहिए।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget