मनपा का रेनवाटर हार्वेस्टिंग पर जोर

मुंबई

शहर का कांक्रीटीकरण होने से पानी की समस्या बढ़ती जा रही है। बारिश का पानी जमीन में नहीं जाकर सीधे समुद्र में जा रहा है। इसीलिए थोड़ी बारिश में भी बाढ़ की स्थिति पैदा हो जाती है, जिसे रोकने के लिए मनपा ने मुंबई में बड़े पैमाने पर रेनवाटर हार्वेस्टिंग की योजना बनाई है। इसके तहत मुंबई के 1200 गार्डेन में रेनवाटर हार्वेस्टिंग (जल संग्रहण) करने का निर्णय लिया है।  

उल्लेखनीय है कि मनपा प्रशासन ने एक हजार वर्ग मीटर से बड़ी सभी सोसायटियों में रेनवाटर हार्वेस्टिंग करना अनिवार्य किया है। मनपा का यह आदेश सिर्फ कागज तक ही सीमित है। मुंबई में बनने वाली इमारतों में कुछ ही सोसायटियां रेनवाटर हार्वेस्टिंग करती हैं, जबकि मनपा ने म्हाडा, एमएमआरडीए सहित अन्य प्राधिकरण जो कि घरेलू संकुल बनाने में लगे हैं, उन्हें भी पत्र लिखकर रेनवाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था करना अनिवार्य किया है। मनपा ने बारिश का पानी जमीन के अंदर जाने के लिए गार्डेंस का सहारा लेने का निर्णय लिया है। मनपा का मानना है कि गार्डेन में रेनवाटर हार्वेस्टिंग के द्वारा जमीन के नीचे जमा किए गए पानी का उपयोग अन्य कामों के लिए किया जा सकेगा। इसके पहले हिंदमाता में पानी भरने की समस्या दूर करने के लिए प्रभादेवी स्टेशन के पास प्रमोद महाजन गार्डेन में रेनवाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था की है, जिससे पानी को बचाया जा रहा है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget