आयकर विभाग ने करदाताओं से मांगे आवेदन

 वित्त वर्ष 2020-21 के रिफंड के लिए


नई दिल्ली

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए लंबित आयकर रिफंड (कर वापसी) को जारी करने के लिए आयकर विभाग ने करदाताओं से जल्द ऑनलाइन आवेदन भेजने को कहा है, ताकि उनका रिफंड जारी किया जा सके। आयकर विभाग से जारी बयान के अनुसार, 2020-21 के लिए भरे गए आयकर रिटर्न में किए गए कर वापसी दावों में से अब तक 93 प्रतिशत का निपटारा किया जा चुका है। पिछले हफ्ते कर वापसी के रूप में 15,269 करोड़ रुपए जारी किए गए। इसे जल्द ही करदाताओं के खातों में भेजा जाएगा।

बता दें कि टैक्स विशेषज्ञों का कहना है कि आयकर कानून के तहत दान करने पर टैक्स छूट दिए जाते हैं और यह लाभ कुछ नियमों और सीमा के तहत मिलते हैं। इसके लिए पहले से निर्धारित रूप में दान करना जरूरी है। अगर आपने किसी संस्था या कंपनी के जरिए दान किया है तो भी टैक्स छूट मिलेगी। उनका कहना है कि दान आर्थिक रूप से किया जाना जरूरी है। आप 2000 रुपए से ज्यादा दान नकद में नहीं कर सकते। इस सीमा से अधिक दान करने के लिए एक चेक देना होगा या ड्राफ्ट, नेटवर्किंग या अन्य किसी माध्यम का इस्तेमाल करना होगा।

योगदान की गई राशि का 50 प्रतिशत या 100 प्रतिशत कटौती के रूप में लिया जा सकता है। कुछ संगठनों के किए गए दान पर कर कटौती का दावा करने के लिए एक सीमा तय की गई है। इसका आधार करदाता की आय होने पर है। प्रधानमंत्री नेशनल रिलीफ फंड को दिए गए दान पर सौ प्रतिशत छूट ले सकते हैं। हालांकि एक अधिसूचित मंदिर मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च अथवा ऐसे किसी धार्मिक स्थान के नवीनीकरण में दिए गए दान पर 50 फीसदी कटौती के लिए पात्र हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget