धोनी के मेंटॉर बनने से शर्मीले खिलाड़ियों को होगा फायदाः सहवाग

virender sehwag

नई दिल्ली

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी सीमित ओवरों के क्रिकेट में हमेशा गेंदबाजों के लिए बेहतर कप्तान साबित हुए हैं और टी-20 विश्व कप के लिए टीम मेंटॉर के रूप में उनकी उपस्थिति से जसप्रीत बुमराह की अगुवाई वाली गेंदबाजी इकाई को काफी फायदा होगा।

सहवाग ने खास इंटरव्यू में कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं कि एमएस ने टी-20 विश्व कप के लिए टीम मेंटॉर बनने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया। मुझे पता है कि बहुत से लोग चाहते हैं कि धोनी फिर से भारतीय क्रिकेट की मुख्यधारा में वापसी करें और मेंटॉर के रूप में टीम में शामिल होना सबसे अच्छी बात है।’

 फिल्डिंग सेट करने के मास्टर हैं धोनी

इस पूर्व विस्फोटक सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘एक विकेटकीपर के रूप में एमएस क्षेत्ररक्षण सजाने के मामले में असाधारण थे और यह कुछ ऐसा है जो इस विश्व कप में गेंदबाजी इकाई की मदद करेगा। गेंदबाज अपना दिमाग लगा सकते हैं और बल्लेबाज के खिलाफ योजना बनाने के लिए उपयोगी सुझाव प्राप्त कर सकते हैं।’

 शर्मीले खिलाड़ियों को मिलेगी मदद

सहवाग ने कहा कि जो युवा खिलाड़ी थोड़े अंतर्मुखी या शर्मीले हैं, उनके लिए भारतीय टीम में धोनी से बेहतर ‘मेंटॉर’ नहीं हो सकता है, खासकर तब जब उन्हें मार्गदर्शन करने के लिए किसी की जरूरत होती है क्योंकि वे मैदान पर खुद को अभिव्यक्त करने की कोशिश करते हैं। किसी भी अंतरराष्ट्रीय टीम में हमेशा ऐसे खिलाड़ी होते हैं, जो शर्मीले होते हैं और अपने कप्तान से बातचीत करने में संकोच करते है। एमएस हमेशा उस तरह का व्यक्ति जिससे खिलाड़ी आसानी से बातचीत कर सकते हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget