आने वाले समय में तकनीक बदलेगी क्रिकेट का रूप : कुंबले

anil kumble

मुंबई

भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले का मानना है कि भविष्य में फैसलों पर तकनीक का प्रभाव और अधिक होगा, क्योंकि कोई भी खिलाड़ी डाटा इंटेलिजेंस की मौजूदगी को खारिज नहीं कर सकेगा। कुंबले ने डीआरएस का उदाहरण देते हुए कहा कि कैसे इसने फैसले लेने की प्रक्रिया बदल दी है। क्रिकेट में जब डीआरएस नहीं होता था, तब फील्ड अंपायर के फैसले को आखिरी फैसला माना जाता था। उन्होंने कहा, ‘क्रिकेट में डीआरएस का प्रभाव है और मुझे यकीन है कि आने वाले समय में फैसलों पर तकनीक का प्रभाव और बढ़ेगा।’ उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा इस पहल का हिस्सा बनने के लिए खिलाड़ियों की स्वीकृति भी अहम है वरना आप पीछे रह जाते हैं।’ कुंबले ने कहा कि बहस का स्वागत है लेकिन उनकी निजी राय है कि तकनीक को अपनाना बेहतर है। उन्होंने कहा, ‘मुझे पता है कि इस पर अभी भी बहस जारी है कि खेल में तकनीक का इतना इस्तेमाल होना चाहिए या अपने विश्वास से काम लेना चाहिए कि मैने गेंद को देखा और मारा।’ उन्होंने कहा, ‘यह सरल तरीका है लेकिन मुझे लगता है कि अगर हमने खेल को बेहतर बनाने के लिए मौजूद तकनीक का इस्तेमाल नहीं किया तो हम पीछे रह जाएंगे।’ भारतीय टीम के मुख्य कोच रहे कुंबले ने कहा कि आने वाले समय में खेलों में तकनीक का और इस्तेमाल होगा।

 उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि सिर्फ ब्रॉडकास्टर्स ही खेलों में तकनीक का इस्तेमाल करेंगे बल्कि बोर्ड्स भी खेलों में तकनीक के नए तरीके तलाशेंगे। अब ओटीटी प्लेटफॉर्म के आने से इसकी संभावना बढ़ गई है।’


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget