पांच जनवरी तक नई मतदाता सूची

एक नवंबर से शुरू होगी नए नामों को जोड़ने की प्रक्रिया


मुंबई

राज्य सरकार द्वारा ओबीसी आरक्षण पर अध्यादेश लाने के बाद मुंबई मनपा चुनावी कार्य की शुरुआत हो गई है। मनपा प्रशासन कोरोना की तीसरी लहर आने का अंदेशा के डर से चुनावी कार्य के लिए मनपा कर्मी को चुनावी कार्य मे देने से तैयार नहीं थे। मगर अब मनपा चुनावी कार्य के लिए अपने कर्मचारी देने की तैयार हो गई है। चुनाव पूर्व मतादाता सूची में नए मतदाताओं को जोड़ने का काम एक नवंबर से शुरू हो जाएगा। जनवरी के पहले सप्ताह में मतादाता सूची की फाइनल हो जाने की जानकारी मनपा के चुनाव विभाग ने दी है।

बता दें कि ओबीसी आरक्षण के चलते मनपा चुनाव को लेकर आशंका जताई जा रही थी। राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए अध्यादेश के बाद मुंबई मनपा सहित अगले साल होने वाली अन्य महानगर पालिकाओ एवं नगरपालिका के चुनाव अब समय पर होना निश्चित हो गया है। राज्य सरकार ने पिछले दिनों मुंबई मनपा में एक वार्ड में एक नगरसेवक सहित अन्य महानगर पालिकाओं में एक वार्ड में 2 से 3 नगरसेवक होने का निर्णय लिया। मनपा चुनावी कार्य को पूरा करने के लिए लगने वाले कर्मचारी वर्ग को राज्य चुनाव आयुक्त को  मुहैया कराने में  घबरा रही थी। मनपा को डर था कि कहीं कोरोना की तीसरी लहर आ गई तो लोगों को सुविधाएं कैसे दी जाएंगी। कोरोना की तीसरी लहर का अंदेशा कुछ हद तक अब कम होता दिखाई दे रहा है। मुंबई में जिस तरह वैक्सिनेशन हो रहा है, अब तीसरी लहर में भयावह स्थिति उतपन्न होने की संभावना छीड़ होती नजर आ रही है। मनपा अब चुनाव आयोग को बीएलओ स्तर के कर्मचारी उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है, जिससे  चुनावी कार्य मे अब तेजी देखी जा सकेगी।  फरवरी में मनपा का होने वाले चुनाव में वार्डों में होने कुछ फेरबदल आदि के काम की अब शुरुआत हो जाएगी। वर्ष 2017 में वार्डों का हुए परसीमन के आधार पर गूगल के द्वारा यह तय किया जाएगा कि वार्डों में कोई फेरबदल करना है, क्या इसका निर्णय लिया जाएगा।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget