देश में कार से होगा हवाई सफर


नई दिल्ली

देश में लगातार बढ़ रही जनसंख्या के कारण सड़कों पर लगने वाले जाम की वजह से ज्यादातर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है और इस वजह से कई बार लोग ऑफिस समेत कई जरूरी कामों के लिए समय पर नहीं पहुंच पाते हैं। देश के लोगों को जल्द ही इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है और लोग हाइब्रिड कारों के जरिए यात्रा कर सकते हैं।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के मॉडल की जानकारी दी है और चेन्नई स्थित स्टार्टअप की युवा टीम द्वारा एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लांइग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल से परिचित कराया है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया  ने ट्वीट करते हुए कहा कि हाइब्रिड फ्लाइंग कारों का इस्तेमाल लोगों और कार्गो को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होने कहा कि इससे भविष्य में मेडिकल के क्षेत्र में काफी मदद मिलने की उम्मीद है और इससे मेडिकल इमरजेंसी में लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है।

बताया जा रहा है कि विनता एयरोमोबिलिटी की टीम 5 अक्टूबर को लंदन में आयोजित होने वाली दुनिया की सबसे बड़ी हेलिटेक प्रदर्शनी में अपने मॉडल को पेश करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। विनता एयरोमोबिलिटी की टीम का दावा है कि हाइब्रिड फ्लाइंग कार में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ डिजिटल इंस्ट्रूमेंट पैनल हैं, जो कार को उड़ाने और चलाने के अनुभव को अधिक आकर्षक और परेशानी मुक्त बनाते हैं। कार बाहर से देखने में काफी आकर्षक होगी, इसमें जीपीएस ट्रैकर के साथ ही पैनोरमिक विंडो कैनोपी दी जाएगी।

1300 किलोग्राम वजन उठाने की होगी क्षमता

हाइब्रिड फ्लाइंग कार का वजन 1100 किलोग्राम है और यह अधिकतम 1300 किलोग्राम वजन उठा सकती है। इसमें एक बैटरी है और मेड इन इंडिया हाइब्रिड फ्लाइंग कार है। विनता एयरोमोबिलिटी की फ्लाइंग कारों को दो यात्रियों के लिए डिजाइन किया गया है और यह 100-120 किलोमीटर प्रति घंटे की की स्पीड से उड़ सकती है। कंपनी ने अधिकतम उड़ान का समय 60 मिनट और अधिकतम ऊंचाई 3000 फीट होने का दावा किया गया है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget