बेनकाब हुआ पाकिस्तान तालिबान का गठजोड़

सरकार बनाने में देरी । ISI चीफ पहुंचे अफगानिस्तान । पाक चल रहा घटिया चाल !

hamid faiz

काबुल

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद वहां सरकार बनाने की तैयारियां चल रही हैं। इस बीच पाकिस्तान आईएसआई प्रमुख हामिद फैज के काबुल पहुंचने की खबर सामने आई है। पाकिस्तन ने पहले ही तालिबान को सरकार के तौर पर समर्थन दे रखा है और अब वह अफगानिस्तान में तालिबान शासन में पिछले दरवाजे से एंट्री मारने की कोशिश में लगा हुआ है।

सूत्रों ने बताया कि हामिद फैज एक विशेष मकसद से काबुल पहुंचे हैं। उनकी यात्रा उद्देश्य हक्कानी को अफगान सेना में सुधार के लिए आगे लाना है। बता दें कि हक्कानी नेटवर्क इस समय अफगानिस्तान में तालिबान का प्रमुख प्रतिस्पर्धी भी है।

अमेरिका ने घोषित कर रखा है आतंकी संगठन

पाकिस्तान की इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस यानी आईएसआई को हक्कानी नेटवर्क के संरक्षक के तौर पर जाना जाता है। हक्कानी नेटवर्क के अलकायदा से गहरे संबंध हैं इसे संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका ने आतंकी संगठन घोषित कर रखा है। सूत्रों का कहना है कि फैज की यात्रा का मुख्य उद्देश केट्टा शूरा के मुल्ला याकूब, मुल्ला अब्दुल गनी बरादर और हक्कानी नेटवर्क के बीच मतभेदों को हल करना है। वहीं यह भी सामने आ रहा है कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क को सैन्य शक्ति देने का मन बना रहा है। पाकिस्तना के इस निर्णय का मुल्ला रहबारी और केट्टा शूरा विरोध कर रहे हैं।

महिलाओं पर बर्बरता

अफगानिस्तान में एक महिला एक्टिविस्ट ने तालिबान पर उनकी बेरहमी से पिटाई करने का आरोप लगाया है। यह महिला एक्टिविस्ट काबुल में एक प्रदर्शन में शामिल हुई थी। राजनीतिक अधिकारों की मांग को लेकर किये गये इस प्रदर्शन में शामिल इस महिला कार्यकर्ता का एक वीडियो भी सामने आया है। इस वीडियो में उनके सिर पर गहरी चोट नजर आ रही है और खून उनके चेहरे तक नजर आ रहा है। एक्टिविस्ट नगरिस साद्दात का आरोप है कि शनिवार को एक प्रदर्शन के दौरान तालाबिन ने उनकी पिटाई की है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget