तीसरे राउंड की वार्ता भी फेल

किसानों ने मिनी सचिवालय के मेन गेट पर डाला डेरा, यहीं लगेगा टेंट


करनाल

किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में हरियाणा के करनाल की नई अनाजमंडी में मंगलवार को महापंचायत हुई। इसके बाद बड़ी संख्या में किसानों ने राकेश टिकैत के नेतृत्व में मिनी सचिवालय की ओर मार्च किया। वहीं किसानों और सरकार के बीच तीसरी दौर की बातचीत भी नाकाम रही। किसान नेताओं ने ऐलान किया है कि मंगलवार रात मोर्चा मिनी सेक्रेटेरिएट पर ही लगेगा। टैंट के ऑर्डर हो गए हैं। किसान मांगें पूरी होने तक सेक्रेटेरिएट के बाहर ही धरना देंगे। किसान 28 अगस्त को करनाल में हुए लाठीचार्ज से नाराज हैं। उन्होंने लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्रवाई और पीड़ित किसानों को मुआवजा देने की मांग उठाई। बड़ी संख्या में किसान मंगलवार को सुबह ही ट्रैक्टरों, मोटरसाइकिलों और कारों में सवार होकर अनाज मंडी पहुंचे थे। इसके बाद 11 किसान नेताओं के डेलिगेशन को अधिकारियों ने बातचीत के लिए बुलाया था। सीनियर किसान नेता जोगिंदर सिंह उग्रहन ने बताया कि प्रशासन के साथ हमारी बातचीत फेल रही है, क्योंकि वे हमारी मांगों को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं।

वाटर कैनन का इस्तेमाल, बैरिकेड तोड़ मेन गेट तक पहुंचे किसान

बैरिकेड तोड़ किसान लघु सचिवालय के मुख्य गेट तक पहुंचने में कामयाब हो गए हैं। वहीं सचिवालय की व्यवस्था कड़ी है। पूरा परिसर बीएसएफ के हवाले है। प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया, लेकिन किसान सभी बाधाओं को पार कर मुख्य गेट तक पहुंच गए।

योगेंद्र बोले-घेराव कर लिया अभी आगे का करेंगे फैसला

किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि अभी घेराव शुरू हुआ है, हमारा संकल्प था कि मिनी सचिवालय का घेराव करेंगे। हमने तमाम मुश्किलों के बाद घेराव कर लिया और अब हमारी पहली प्राथमिकता है कि हम घेराव को सफल करें और उसके बाद हम निर्णय लेंगे कि कितनी देर बैठना है।

घेराव के बाद प्रशासन हुआ अलर्ट

किसान महापंचायत करने के लिए मंगलवार को करनाल में इकठ्ठे हुए, वहीं किसान नेताओं तथा अधिकारियों के बीच तीसरे दौर की बातचीत का भी कोई नतीजा नहीं निकलने के बाद प्रदर्शनकारियों द्वारा जिला मुख्यालय के घेराव के मद्देनजर स्थानीय प्रशासन एहतियाती तैयारियों में जुटा है।

मार्च की वजह से हुआ भारी ट्रैफिक जाम

करनाल में किसानों के सचिवालय की ओर मार्च की वजह से भारी ट्रैफिक जाम हो गया है, जो मंगलवार दोपहर को जिला अधिकारियों के साथ उनकी बैठक के समाप्त होने के बाद शुरू हुआ था। प्रदर्शनकारियों को पहले पुलिस ने नमस्ते चौक (चौराहे) पर रोका। थोड़ी देर चर्चा के बाद ही पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने दिया। ट्रैक्टर पर सवार सैकड़ों-हजारों किसान लाठियां लेकर करनाल के मिनी सचिवालय की ओर बढ़ते देखे गए।




Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget