टाटा ग्रुप वायु सेना के लिए बनाएगा जहाज


नई दिल्‍ली

रक्षा मंत्रालय ने 56 ‘सी-295’ ट्रांसपोर्ट विमानों की खरीद के लिए स्पेन की एयरबस डिफेंस एंड स्पेस के साथ करीब 22,000 करोड़ रुपए के अनुबंध पर शुक्रवार को हस्ताक्षर किए। कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी ने हाल में नए मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट की खरीद को हरी झंडी दे दी थी। यह एयरक्राफ्ट टाटा और एयरबस मिलकर भारत में बनाएगी। यह अपनी तरह की पहली परियोजना है, जिसमें एक निजी कंपनी द्वारा भारत में सैन्य विमान का निर्माण किया जाएगा। इससे आने वाले वर्षों में देश में 6,000 से ज्यादा रोजगार पैदा होने की उम्मीद है। साथ ही इससे देश में एविएशन की अत्याधुनिक तकनीक आएगी। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक यह अपनी तरह का पहला प्रोजेक्ट है, जिसमें कोई निजी कंपनी देश में सैन्य विमान बनाएगी। अब तक यह जिम्मा सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के पास था। अब पहली बार कोई निजी कंपनी देश के लिए मिलिट्री एयरक्राफ्ट बनाएगी।

रतन टाटा ने अपने ट्वीट में जानकारी देते हुए बताया कि C-295 एयरक्राफ्ट बनाने के लिए टाटा एडवांस सिस्टम और एयर बस डिफेंस के ज्वाइंट प्रोजेक्ट को क्लियरेंस मिलना काफी बड़ा कदम है। इससे भारत में एविएशन और एविएशन से जुड़े प्रोजेक्ट के लिए नए द्वार खुलेंगे। उन्होंने बताया कि C-295 एयरक्राफ्ट एक मल्टीरोल एयरक्राफ्ट होगा, जो मिशन की जरूरत के हिसाब से कई डिवाइस और खूबियों से लैस होगा। यह क्लियरेंस भारत में पूरी तरह से एयरक्राफ्ट के निर्माण की परिकल्पना को दर्शाता है। टाटा ने आगे लिखा कि इस कदम से देश में इंटरनेशनल लेवल का डोमेस्टिक सप्लाई चेन का निर्माण होगा, जो अब से पहले कभी भी संभव नहीं हो सका। टाटा ग्रुप इस खास मौके पर एयरबस और रक्षा मंत्रालय को इस बड़े और साहसी कदम के लिए बधाई देता है। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget