​​इंफोसिस पर नक्सलियों और वामपंथियों की मदद करने का आरोप

पांचजन्य में सनसनीखेज आरोप

infosys
नागपुर

आरएसएस समर्थक साप्ताहिक पांचजन्य में संदेह व्यक्त किया गया है कि इंफोसिस के माध्यम से राष्ट्रविरोधी ताकत देश के आर्थिक हितों के खिलाफ काम नहीं कर रही हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख पत्र पांचजन्य में लिखे लेख में कहा गया है, “इन्फोसिस पर अक्सर नक्सलियों, वामपंथियों की मदद करने का आरोप लगाया जाता रहा है, लेकिन इसका हमारे पास कोई पक्का सबूत नहीं है।”

यह आलोचना वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और आयकर पोर्टलों के साथ तकनीकी मुद्दों के मद्देनजर की गई है। इन दोनों पोर्टलों को प्रमुख भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस द्वारा विकसित किया गया है। पांचजन्य के ताजा अंक में आरोप लगाया गया है कि यह देश की अर्थव्यवस्था को अस्थिर करने का एक जानबूझकर किया गया प्रयास हो सकता है।  कवर स्टोरी ‘साख और आघात’ में इसकी आलोचना की गई है और कवर पर इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति की एक तस्वीर भी प्रकाशित की गई है। लेख में ‘ऊंची दुकान फीका पकवान’ कहकर कंपनी की आलोचना की गई है। इंफोसिस द्वारा बनाए गए इन दो पोर्टलों में हमेशा तकनीकी दिक्कतें आती हैं। ऐसा करदाताओं और निवेशकों के नुकसान के लिए किया गया है। यह आरोप लगाते हुए लेख में कहा गया है कि ऐसे कारक देश की अर्थव्यवस्था में करदाताओं के विश्वास को कमजोर करते हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget