करोड़पति निकला पुलिस कांस्टेबल

पटना

बिहार में भ्रष्टाचार में संलिप्त सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ सरकार की कार्रवाई लगातार जारी है। आईपीएस, बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों समेत डीटीओ और अन्य लोगों के यहां छापेमारी करने के बाद अब बिहार में एक करोड़पति कांस्टेबल के यहां छापेमारी जारी है। बिहार पुलिस की आर्थिक अनुसंधान इकाई ने पटना जिला पुलिस बल के जवान और बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष कांस्टेबल नरेंद्र कुमार धीरज के नौ ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है। कांस्‍टेबल पोस्ट पर तैनात धीरज के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की शिकायत मिली थी। इस मामले में धीरज के खिलाफ सोमवार को ही आर्थिक अपराध थाना में मामला दर्ज किया गया था, जिसके बाद मंगलवार को एक साथ उनके कई ठिकानों पर छापेमारी की गई। धीरज पर आरोप है कि उसने खुद और परिजनों के नाम पर करोड़ों रुपए की अचल संपत्ति अर्जित की है। आय से अधिक संपत्ति से संबंधित शिकायत होने के बाद सिपाही नरेंद्र कुमार धीरज के पटना, आरा मुजफ्फरपुर स्थित गांव, अरवल आरा जैसे कई ठिकानों पर रेड चल रही है। ईओयू की इस रेड से प्रशासनिक खेमे में भी हड़कंप मचा है। आरा के एक ही इलाके विष्णु नगर, भेलाई रोड में धीरज के कई भाईयों के प्लॉट और जमीन हैं। टीम को धीरज के घर से कई बेशकीमती सामान भी मिले हैं।

सूत्रों के मिली जानकारी के अनुसार नरेन्‍द्र कुमार के जिन ठिकानों पर छापामारी की गई, उनमें पटना के बेउर में महावीर कॉलोनी स्थित आवास, अरवल के अरोमा होटल के सामने स्थित धीरज के भाई अशोक कुमार का मकान, भोजपुर जिले के सहार थाना अंतर्गत मुजफ्फरपुर गांव स्थित धीरज का पैतृक आवास, आरा शहर के भिलाई रोड, कृष्णानगर स्थित भाई सुरेंद्र सिंह का मकान और भाई विजेंद्र कुमार विमल का मकान, नरेंद्र कुमार धीरज के भाई श्याम विहार सिंह के नारायणपुर आरा स्थित मॉल व आवासीय मकान, आरा के नारायणपुर में भाई सुरेंद्र कुमार सिंह के छड़ सीमेंट की दुकान-आवास और भतीजे धर्मेंद्र कुमार के अनाइठ, आरा में आशुतोष ट्रेडर्स नामक दुकान शामिल है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget