मनपा सदन की बैठक प्रत्यक्ष करने की मांग

सहूलियत को लेकर भाजपा ने किया आंदोलन


मुंबई

ऑनलाइन माध्यम से हो रहे मनपा के कामकाज को प्रत्यक्ष रूप से करने की मांग भाजपा ने की है। पत्रकारों को मनपा के विभिन्न कामकाजों से दूर रखने की मनपा प्रशासन की कोशिश का भाजपा ने जमकर विरोध किया। भाजपा ने आरोप लगाया कि मनपा की सत्ताधारी, मनपा से पत्रकारों को दूर रखकर खुलेआम भ्रष्टाचार कर रही है, जिसका उदाहरण बेस्ट की बैठक में दिखाई दिया। इस तरह के अनेक मुद्दों को लेकर भाजपा नगरसेवकों ने महापौर कार्यालय के बाहर धरना आंदोलन किया। भाजपा ने आरोप लगाया कि शिवसेना मनपा प्रशासन से हाथ मिलाकर मनपा की स्थाई समिति से लेकर विभिन्न वैधानिक समितियों एवं मनपा सदन की बैठक ऑनलाइन ले रही है। कोरोना का असर कम होने के बावजूद जान बूझकर ऑनलाइन बैठक की जा रही है। भाजपा मनपा नेता प्रभाकर शिंदे ने कहा कि जो नगरसेवक वैक्सीन का दोनों डोज ले चुके हैं उन्हें बैठक में शामिल कर मनपा का कामकाज प्रत्यक्ष रूप में किया जा सकता है। सत्ताधारी गड़बड़ घोटाला करने के लिए ऑनलाइन बैठक करने पर प्रशासन का साथ दे रही है। बेस्ट की बैठक मात्र तीन मिनट में खत्म की गई जिसमें 120 करोड़ का प्रस्ताव पास किया गया। इसी से मनपा प्रशासन की पारदर्शिता समझ में आती है। 

राज्य सरकार से नहीं मिला आदेश

महापौर किशोरी पेंडणेकर ने कहा कि मनपा का कामकाज राज्य सरकार के दिशा निर्देश पर चल रहा है। राज्य सरकार की ओर से अभी तक कोई भी बैठक प्रत्यक्ष रूप से लेने का आदेश नहीं आया है. उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की अभी चिंता खत्म नही हुई है। भाजपा के आंदोलन पर प्रतिक्रिया देते हुए महापौर ने कहा कि उन्हें भी लगता है कि मनपा का काम काज प्रत्यक्ष होना चाहिए लेकिन कोरोना मरीजों की संख्या कम ज्यादा हो रही है जिसके चलते अभी थोड़ा और दिन इंतजार करने की जरूरत है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget